पाक सेना ने ही खोली ISI की पोल, बताया आतंकियों से लिंक्स

नई दिल्ली (6 अक्टूबर): एक बार फिर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI और आतं‍कवादियों के बीच गठजोड़ का खुलासा हुआ है। पाकिस्तान की सेना ने भी यह माना है कि ISI आतंकवादियों से लिंक्स हैं। सेना ने यह भी कहा कि प्रतिबंधित जमात-उद दावा की राजनीतिक पार्टी मिली मुस्लिम लीग चुनाव लड़ने के लिए पूरी तरह आजाद है।

मिली मुस्लिम लीग को मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के जमात उद दावा का समर्थन मिला है। इस पार्टी को पाकिस्तान के निर्वाचन आयोग ने कुछ महीने पहले राजनीतिक पार्टी का दर्जा देने से इनकार कर दिया था और उप चुनाव लड़ने की भी मंजूरी नहीं दी थी।

ISI और आतंकियों के कनेक्शन पर अमेरिकी दावों को लेकर एक सवाल के जवाब में इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के डायरेक्टर जनरल मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा, 'समर्थन करने और लिंक्स होने में फर्क है। एक भी ऐसी खुफिया एजेंसी का नाम बताइए जिसके लिंक्स न हो। ये लिंक्स सकारात्मक भी हो सकते हैं, और यूएस के रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस ने ऐसा नहीं कहा कि ISI आतंकियों का समर्थन करता है।'