'पाकिस्तानियों ने इस्लाम को बदनाम किया'

नई दिल्ली(16 अप्रैल): नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने पाकिस्तान के एक विश्वविधालय में ईश-निंदा के चलते छात्र की मौत पर विरोध जताते हुए कहा दुनिया में पाकिस्तान की खराब इमेज के लिए स्थानीय लोगों को ही जिम्मेदार ठहराया है।


- मलाला ने एक वीडियो संदेश जारी करते हुए कहा कि कोई हमारे देश और धर्म को बदनाम नहीं कर रहा है। यह काम हम लोग खुद ही कर रहे हैं।


- उन्होंने कहा कि 'आज हम इस्लामफोबिया की बात करते हैं साथ ही यह भी कहते हैं कि लोग हमारे देश और धर्म को गलत नाम दे रहे हैं जबकि सच तो यह है कि दुनियाभर में पाकिस्तान और इस्लाम की खराब छवि के लिए कोई और नहीं बल्कि स्वयं पाकिस्तानी जिम्मेदार हैं।


-उन्होंने कहा कि पाकिस्तानियों को अपने धर्म का ध्यान से अध्ययन करना चाहिए, क्योंकि यह शांति और सहिष्णुता का संदेश देता है। हर पाकिस्तानी का अधिकार है कि वह शांति और सुरक्षा के साथ अपनी जिंदगी बिताए, अगर ऐसी हत्याएं होतीं रहीं तो कोई भी सुरक्षित नहीं रहेगा।