पाक में 'लव जिहाद'? हिंदू लड़कियों का 'धर्म परिवर्तन' कराने वाले 'मियां मिट्ठू' के खिलाफ प्रदर्शन

नई दिल्ली (14 अगस्त): पाकिस्तान में मानवाधिकार कार्यकर्ता और हिंदू संगठन पीपीपी के विवादित पूर्व नेशनल असेंबली मेंबर पीर अब्दुल हक के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। ये सभी हक के कथित तौर पर एक हिंदू नाबालिग का अपहरण कर उसे इस्लाम कुबूल करवाने के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। 

- पीर अब्दुल हक उर्फ मियां मिट्ठू के खिलाफ पाकिस्तान के कई शहरों में गुरुवार को प्रदर्शन हुआ। इसी दिन नेशनल माइनॉरिटीज़ डे मनाया जाता है। - कार्यकर्ता लाहौर के फैज़ल स्क्वायर, कराची और इस्लामाबाद में मियां मिट्ठू के खिलाफ इकट्ठे हुए। 

- कपिल देव नाम के एक कार्यकर्ता ने कहा, "मियां मिट्ठू आतंक का प्रतीक है। वह जबरन धर्म परिवर्तन का प्रतीक है। उस इलाके के हिंदू उसके खिलाफ एक शब्द भी नहीं बोल सकते। हमें कहां जाना चाहिए?" - प्रदर्शन उन रिपोर्ट्स के आने के बाद हुए जिनमें कराची में पिछले कई हफ्तों से हिंदुओं पर हमले की घटनाएं सामने आईं।  - एक हिंदू लड़के के मर्डर के अलावा 6 अगस्त को एक डॉक्टर की हत्या भी सामने आई थी।  - प्रदर्शनकारियों ने मियां मिट्ठू पर हिंदू लड़कियों का अपहरण कर जबरन धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया। 

- पीर अब्दुल हक एक जाने माने नेता और मौलवी हैं। जो पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रहने वाले एक प्रभावशाली परिवार से ताल्लुक रखते हैं।