इमरान के अमेरिका जाने से पहले पाकिस्तान की चालबाजी, आतंकी हाफिज की गिरफ्तारी का किया दिखावा

HAFIZ

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (17 जुलाई): दुनियाभर के आतंकियों के लिए सुरक्षित पनाहगार बन चुके पाकिस्तान ने एकबार फिर दुनिया के आखों में धूल झोंकने की कोशिश खी है। आतंकी हाफिज पर पाकिस्तान ने नई चाल चला है। मुंबई आतंकी हमले के मारटरमाइंड और प्रतिबंधित संगठन जमात-उद-दावा के संस्थापक हाफिज सईद को पाकिस्तान में गिरफ्तार कर लिया गया है। जानकारी के मुताबिक हाफिज सईद पर ये कार्रवाई पाकिस्तान काउंटर टेरेरिज्म ने की है। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के काउंटर टेरेरिज्म के लोगों ने हाफिज सईद को उस वक्त गिरफ्तार किया जब वो लाहौर से गुजरांवाला जा रहा था। जानकारी के मुताबिक हाफिज सईद को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है। हाफिज सईद की गिरफ्तारी टेरर फंडिंग केस में की गई है। ये केस 2009 में दर्ज किया गया था।

जानकारी के मुताबिक आतंकी हाफिज सईद की गिरफ्तारी आतंकी फंडिंग के आरोप में हुई है। माना जा रहा है कि पाकिस्तान की ये कार्रवाई दिखावा मात्र है। पाकिस्तान सरकार के इस कदम को फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) के दबाव का नतीजा माना जा रहा है। पाकिस्तान को एफएटीएफ से ब्लैक लिस्ट होने का डर सता रहा है। हाल ही में आतंकी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करने के बढ़ते अंतरराष्ट्रीय दबाव के बीच पाकिस्तान ने हाफिज सईद और उसके 12 सहयोगियों के खिलाफ आतंकी फंडिंग के 23 मामले दर्ज किए थे।

आपको बता दें कि आतंकी संगठन जेयूडी का सरगना हाफिज सईद मुंबई में हुए 26/11 हमले का मास्टरमाइंड है। इसके अलावा पुलवामा और उरी हमले की साजिश में भी वह शामिल था। पाकिस्तान अभी तक आतंकी हाफिज सईद की गिरफ्तारी पर चालाकियां दिखा रहा था लेकिन आतंक को लेकर भारत के दबाव के आगे पाकिस्तान को झुकना पड़ा। अब पाकिस्तान मोस्ट वांटेड आतंकी हाफिज सईद की गिरफ्तारी को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करने वाला है। वहीं, इस कार्रवाई को आतंक पर कार्रवाई का दिखावा भी कहा गया रहा है। क्योंकि, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान 21 जुलाई को अमेरिका जा रहे हैं।

गौरतलब है कि हाफिज सईद और उसके तीन सहयोगियों को पाकिस्तान में आतंक रोधी एक अदालत ने हाल ही में अपने मदरसे के लिए जमीन के अवैध इस्तेमाल से जुड़े मामले में तीन अगस्त तक अग्रिम जमानत दी थी। लाहौर में आतंक रोधी अदालत (एटीसी), ने सईद और उसके सहयोगियों- हाफिज मसूद, अमीर हमजा और मलिक जफर को 50-50 हजार रुपये के मुचलके पर तीन अगस्त तक अंतरिम जमानत दी थी। से पहले 'डॉन' अखबार ने खबर दी थी कि एटीसी ने जेयूडी नेताओं को 31 अगस्त तक अंतरिम जमानत प्रदान की है। आतंक रोधी विभाग (सीटीडी) ने लाहौर में अवैध तरीके से एक भूखंड हड़पने और उस पर मदरसा बनाने के लिए सईद और अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। न्यायाधीश वारीच ने पंजाब पुलिस के सीटीडी को सईद और उसके तीन सहयोगियों को तीन अगस्त तक मामले में गिरफ्तार करने से रोक दिया।