पाकिस्तान ने करवाये समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट !

नई दिल्ली (4 मार्च): अमेरिका के खुलासे के बाद 2007 के समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट के तार पाकिस्तानी के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ते नज़र आ रहे हैं।  नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) समझौता ब्लास्ट में लश्कर की भूमिका पता लगाने में जुट गई है। अमेरिका से मिली लीड्स पर आगे सुराग तलाशने के लिए एनआईए महानिदेशक शरद कुमार के नेतृत्व में एक हाई-लेवल टीम अपने गंतव्य के लिए निकल चुकी है।

दरअसल, अमेरिका के ट्रेजरी विभाग ने दावा किया है कि पाकिस्तान के कराची में रहने वाले आरिफ कसमानी ने समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट के लिए आतंकियों को पैसा दिया था।  आरिफ लश्कर-ए-तैयाबा का चीफ कोऑर्डिनेटर है। इसी दावे के बाद डीजी शरद कुमार के नेतृत्व में एनआईए की टीम जांच के लिए अमेरिका गई है.

समझौता एक्सप्रेस में हुए ब्लास्ट में 68 यात्री मारे गये थे जिनमें ज्यादातर पाकिस्तानी ही थे। दिल्ली से लाहौर के तक चलने वाली समझौता एक्सप्रेस में 2007 में हरियाणा के पानीपत के पास जबरदस्त धमाके हुए थे। इस मामले में साल 2010 नवंबर में स्वामी आसीमानंद को गिरफ्तार किया गया था। उन्हें 2014 में जमानत पर रिहा कर दिया गया था। जिस पर पाकिस्तान ने कड़ा ऐतराज जताया था। अब अमेरिका के खुलासे के बाद पाकिस्तान बचाव की मुद्रा में आ जायेगा।