पाकिस्तान: शिव मंदिर में 20 साल बाद पूजा की अनुमति

नई दिल्ली(25 अप्रैल): पाकिस्तान की एक अदालत ने पाक हिंदुओं को 20 साल बाद एक शिव मंदिर में पूजा करने की इजाजत दे दी है।

संपत्ति विवाद के कारण एबटाबाद जिले स्थित इस मंदिर में किसी भी धार्मिक गतिविधियों पर रोक थी।


- जस्टिस अतीक हुसैन शान की अध्यक्षता में पेशावर हाईकोर्ट की पीठ ने संविधान की धारा 20 के तहत हिंदुओं को खैबर पख्तुनख्वा शिव मंदिर में पूजा अर्चना की इजाजत दी।


- 2013 में हिंदु गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) ने पीएचसी एबटाबाद पीठ में एक अर्जी दायर की थी कि संगठन ने लीज के जरिये संपत्ति की खरीददारी की थी।


- मुद्दई और एनजीओ बालमाइक सभा के प्रमुख शाम लाल ने कहा कि मंदिर 175 साल पुरानी है। ब्रिटिश शासन के दौरान इस मंदिर को गोरखा राइफल्स को सौंपा गया था ताकि हिंदु सैनिक पूजा अर्चना कर सके।


- 1947 में विभाजन के बाद इस मंदिर और अन्य संपत्तियों का जिम्मा बालमाइक सभा को दे दिया गया और इस पर 1960 तक बालमाइक सभा का कब्जा रहा। लेकिन इसके बाद एबटाबाद बोर्ड ने यह मंदिर समेत सभी हिंदु संपत्तियों को जब्त कर लिया।