मुल्ला मंसूर का खात्माः ओबामा के बयान के बाद पाकिस्तान की तीखी प्रतिक्रिया

 

नई दिल्ली (23 मई): अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि अफगानिस्तान के शांति प्रयासों में बाधा बन रहे मुल्ला मंसूर का खात्मा एक बड़ी उपल्ब्धि है। मुल्ला मंसूर को अफगानिस्तान-पाकिस्तान बॉर्डर पर पकिस्तानी इलाके में अमेरिकन ड्रोन हमले में मार गिराया था। अमेरिकन ड्रोन का यह हमला सरताज अजीज के ठीक उस बयान के बाद हुआ जिसमें अजीज ने कहा था कि अफगान तालिबान फिलहाल शांति वार्ता के लिए तैयार नहीं हैं।

इसी के ठीक बाद अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन कैरी ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाजड शरीफ और सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ को अमेरिकी ड्रोन हमलों की जानकारी दी थी। ओबामा ने वियेतनाम जाते समय रास्ते से एक लिखित स्टेटमेंट में कहा है कि अमेरिका उन आतंकियों को लगातार निशाना बनाता रहेगा जो अमेरिका पर हमला कर रहे हैं और शांति प्रयासों में बाधा बन रहे हैं।

ओबामा के इस स्टेटमेंट के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शऱीफ ने अमेरिका को पाकिस्तान की संप्रभुता को चुनौती देने पर कड़ी आपत्ति जताई है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भी इस बारे में अमेरिका के सामने विरोध जाहिर किया है। उधर, अफगानिस्तान के तालिबान ने मुल्ला मंसूर के मारे जाने का खण्डन किया है। अफगानिस्तान तालिबान ने कहा है कि तीन दिन के भीतर मुल्ला मंसूर का ऑडियो टेप जारी किया जायेगा।