जवान से बर्बरता के पीछे पाक सैनिक, राहील ने चली चाल!

नई दिल्ली(29 अक्टूबर): पाकिस्तानी आतंकियों द्धारा भारतीय सेना के शहीद जवान मंजीत सिंह के शव के साथ बर्बरता करने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव और बढ गया है। सेना के प्रवक्ता ने इस घटना को निंदनीय करार देते हुए कहा है कि इस घटना का उचित जवाब दिया जाएगा। 

- रिपोर्ट के मुताबिक शहीद जवान के शव का अपमान करने की इस घटना में पाकिस्तान की बॉर्डर ऐक्शन टीम (बैट) का हाथ हो सकता है।

- इस फोर्स में आमतौर पर आतंकवादी और पाकिस्तानी सैनिक शामिल रहते हैं। पाकिस्तान की यह फोर्स बर्बरता के जरिए दोनों देशों के बीच एलओसी और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर तनाव बढ़ाने का काम करती रही है। इसके अलावा यह भी कहा जा रहा है कि पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल राहील शरीफ अपने कार्यकाल को बढ़वाने के लिए भी इस तरह की कार्रवाई को अंजाम दे रहे हैं।

- पाकिस्तानी बैट ने 2013 में भी इस तरह की घटना को अंजाम देते हुए मेंढर सेक्टर में एक शहीद सैनिक का सिर काट लिया था, जबकि दूसरे के शव को क्षत-विक्षत कर दिया था। 

- बैट की इस बर्बर कार्रवाई का सेना ने भी उचित जवाब दिया था। उस वक्त तत्कालीन सेना प्रमुख जनरल बिक्रम सिंह ने कहा था कि यदि पड़ोसी देश की सेना नियमों का उल्लंघन करती हो तो फिर हमसे नियमों पर अडिग रहने की उम्मीद नहीं की जा सकती।

- पाकिस्तानी आतंकवादियों ने शुक्रवार की शाम को कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में 17 सिख लाइट इनफैंट्री के जवान मंजीत सिंह के जवान के शव को बुरी तरह कुचल दिया था।