भारत के परमाणु हथियारों से घबराया पाकिस्तान

नई दिल्ली (29 अक्टूबर): भारत की परमाणु ताकत से पाकिस्‍तान घबरा गया है। एक तरफ जहां उसने भारत के परमाणु कार्यक्रम की आलोचना की है वहीं इस मसले पर परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) को भी निशाने पर लिया है। 

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता नफीस जकारिया ने कहा कि , पाकिस्तान काफी लंबे वक्‍त से कहता आ रहा है कि तेजी से बढ़ रहा भारत का सैन्‍य परमाणु कार्यक्रम क्षेत्रीय और बाकी इलाकों की शांति और स्थायित्व के लिए गंभीर खतरे की तरह है।' जकारिया का यह बयान एक पाकिस्तानी थिंक टैंक की उस रिपोर्ट के बाद आया है जिसमें दावा किया गया था कि भारत के पास 356 से 492 परमाणु बम बनाने के लिए पर्याप्त सामग्री और तकनीकी क्षमता है। यह रिपोर्ट इंस्टिट्यूट ऑफ स्ट्रैटिजिक स्टडीज इस्लामाबाद द्वारा 'भारतीय असुरक्षित परमाणु कार्यक्रम' के नाम से प्रकाशित की गई थी। यह पहले के उन अध्ययनों के उलट है जिनमें परमाणु बम बनाने की भारत की क्षमता को कमतर आंका गया था।

इस स्टडी के बारे में पूछे जाने पर जकारिया ने कहा, 'इस तरह की चिंताओंकी सार्वजनिक तौर पर मौजूद इन रिपोर्टों से पुष्टि होती है।' जकारिया ने कहा कि भारत के परमाणु कार्यक्रम में जबर्दस्‍त बढ़ोतरी की वजह एनएसजी ने 2008 में इस देश को प्रदान की गई छूट है।