भारत-इजराइल की डिफेंस डील से घबराया पाकिस्तान

नई दिल्ली (25 फरवरी): भारत और इजराइल की डिफेंस डील से पाकिस्तान बुरी तरह डर गया है। इस खौफ का असर नवाज़ शरीफ की तुर्की यात्रा में दिखायी दिया है। नवाज़ शरीफ ने पहली बार कुबूल किया है कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ साजिश रचता रहा है। फिल्हाल भारत सरकार ने  इजरायल से 17,000 करोड़ की डिफेंस डील को मंजूरी दे दी। इस डील के तहत दोनों देश मिलकर मीडियम रेंज की सरफेस टू एयर मिसाइल बनाएंगे। ये मिसाइलें इंडियन आर्मी के लिए डेवलप की जाएंगी। इस मिसाइल केनिशाने पर पाकिस्तान रहेगा। ऐसा माना जा रहा है।

- इस प्रोजेक्ट को डीआरडीओ (और इजरायली एयरक्राफ्ट इंडस्ट्री यानी आईएआई मिलकर पूरा करेंगी।

- ये डील इसलिए भी अहम हो जाती क्योंकि इस साल नरेंद्र मोदी इजरायल की ऑफिशियल विजिट पर भी जाने वाले हैं।

- इसके अलावा इसी साल दोनों देशों के बीच डिप्लोमैटिक रिलेशंस को 25 साल भी पूरे हो जाएंगे।- पीएम मोदी ने बुधवार को कैबिनेट मीटिंग की थी। इसी मीटिंग में इजरायल के साथ इस मिसाइल डील को मंजूरी दी गई।

- इंडियन आर्मी की पांच रेंजीमेंट्स जिसमें 40 यूनिट्स और 200 मिसाइलें होंगी उन्‍हें इस डील के तहत डेवलप किया जाएगा।  भारत इजरायल का सबसे बड़ा आर्मी हार्डवेयर खरीदने वाला देश है।

- दोनों देशों के बीच हथियारों, मिसाइलों और ड्रोन्स को लेकर डील पहले ही हो चुकी हैं।

- इजरायल के प्रेसिडेंट रेवन रिवलिन पिछले साल नवंबर में भारत आए थे। इसी दौरान डिफेंस सेक्टर में कोऑपरेशन बढ़ाने पर सहमति बनी थी।

- इसी हफ्ते की शुरुआत में इजरायली डिफेंस कंट्रोल एजेंसी ने देश के सांसदों को बताया था कि भारत को डिफेंस सेक्टर में मदद के लिए कुछ नॉर्म्स में छूट दी गई है।