Blog single photo

फटेहाल पाकिस्तान के बुरे हालः देखें, यूएई ने क्यों रोक दी अरबों डॉलर की इमदाद

कंगाली के दिनों में पाकिस्तान का आटा गीला हो गया है। जहां संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने पाकिस्तान को 3.2 अरब डॉलर देने से इंकार कर दिया वहीं हालांकि चीन ने 2 बिलियन डॉलर का कर्ज देने का वायदा किया है, लेकिन चीन का पहले से ही 61 बिलियन डॉलर का कर्जा है। पाकिस्तान को 2017 से चीन को भी कर्ज वापसी शुरु करनी थी लेकिन पाकिस्तान चीन को भी कर्ज की वापसी शुरु नहीं कर पाया है। दरअसल, बीते साल दिसंबर में यूएई ने फटेहाल पाकिस्तान की इज्जत बचाने के लिए 6.2 अरब डॉलर देने का ऐलान किया था। यह पैसा स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान में तीन किश्तों में जमा करना था

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (14 मार्च): कंगाली के दिनों में पाकिस्तान का आटा गीला हो गया है। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने पाकिस्तान को 3.2 अरब डॉलर देने से इंकार कर दिया वहीं  हालांकि चीन ने 2 बिलियन डॉलर का कर्ज देने का वायदा किया है, लेकिन चीन का पहले से ही 61 बिलियन डॉलर का कर्जा है। पाकिस्तान को 2017 से चीन को भी कर्ज वापसी शुरु करनी थी लेकिन वो अभी तक चीन को भी कर्ज की वापसी शुरु नहीं कर पाया है।  दरअसल, बीते साल दिसंबर में यूएई ने फटेहाल पाकिस्तान की इज्जत बचाने के लिए 6.2 अरब डॉलर देने का ऐलान किया था। यह पैसा स्टेट बैंक ऑफ पाकिस्तान में तीन किश्तों में जमा करना था 

यूएई की शर्त यह थी कि पहली दो किश्तों का सही उपयोग करने के बाद ही पाकिस्तान के खाते में बाकी पैसे जमा किये जायेंगे लेकिन पाकिस्तान यूएई को पहले जमा करवाये गये तीन अरब डॉलर के भुगतान का हिसाब-किताब देने में आना-कानी करता रहा फरवरी बीत जाने के बावजूद यूएई को हिसाब-किताब नहीं दिया। पाकिस्तान की इस हरकत से नाराज  यूएई ने न केवल समीक्षा बैठक रद कर दी बल्कि शेष 3.2 अरब डॉलर भी देने से इंकार कर दिया। यूएई को मनाने की आखिरी कोशिश भी नाकाम होजाने के बाद  पाकिस्तान के वित्त मंत्री असद उमर ने खुद कहा कि यूएई की मदद न मिलने के कारण नकद भुगतान की गंभीर समस्या उत्पन्न हो गयी है। 

इस घटनाक्रम से एक बार फिर पाकिस्तान के विदेशी मुद्रा भंडार पर दबाव बढ़ गया है। पाकिस्तान अभीतक  अपने मित्र देशों की मदद से मेंटेन कर रहा था। पाकिस्तान के अधिकारियों ने उम्मीद की थी कि सऊदी अरब के बाद अबु धाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायेद एल नयान पाकिस्तान दौरेपर क्रेडिट ऑइल फैसिलिटी की देने की घोषणा करेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 

गिरे वक्त में  चीन ने एक बार फिर पाकिस्तान को 2 बिलियन की मदद अगले हफ्ते तक मुहैया कराने का आश्वासन दिया है,लेकिन इस रकम को लेकर पाकिस्तान को चीन 61 बिलियन डॉलर का कर्जा सीपेक योजना के तहत दे चुका है।(Photo Courtesy:Google)

Tags :

NEXT STORY
Top