चीन को गधे बेचेगा पाकिस्तान

नई दिल्ली(9 अप्रैल): पाकिस्तान एक प्रस्तावित व्यापार योजना के तहत चीन के साथ अपने रिश्ते और मजबूत करने के लिए गधों को इस्तेमाल करने की योजना बना रहा है।


- पाकिस्तान ने फैसला किया है कि वह अपने यहां के गधे चीन को बेचेगा।


- विश्लेषकों का कहना है कि इस उपाय से पाकिस्तान को काफी मुनाफा होगा।


- बता दें कि गधे की खाल का चीन में काफी इस्तेमाल होता है। गधे की खाल से निकली हुई जिलेटिन का इस्तेमाल कई तरह की महंगी दवाओं को बनाने में किया जाता है।



- पाकिस्तान द्वारा चीन को गधे निर्यात किए जाने की इस योजना को 'खैबर पख्तूख्वा चाइना सस्टेनेबल डंकी डिवेलपमेंट प्रोग्राम' नाम दिया गया है। इसका मकसद चीन को गधे निर्यात करना और चीन में गधों की ब्रीडिंग के लिए मदद मुहैया करना है।


- मीडिया खबरों के मुताबिक, एक गधे की खाल से पाकिस्तान को 18 से 20 हजार रुपये तक मिल जाते हैं।


- खैबर पख्तूनख्वा-CPEC वेबसाइट ने इस बारे में जानकारी देते हुए लिखा है, 'इस प्रस्तावित योजना के अंतर्गत गधों की संख्या को बढ़ाने का फैसला किया गया है। इस प्रोग्राम के तहत हम गधों की आबादी में इजाफा करने पर ध्यान देंगे, ताकि चीन को होने वाले निर्यात में कोई कमी ना आए। इससे गधे पालने वालों की आमदनी बढ़ेगी और प्रांत के कारोबारियों को भी फायदा होगा।'


- वेबसाइट पर आगे लिखा गया है कि इस प्रस्तावित योजना के द्वारा गधे पालने वाले समुदायों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। साल 2015 में पाकिस्तान ने गधों की खाल के निर्यात पर अस्थायी प्रतिबंध लगा दिया था। उस समय गधों के विलुप्त होने की आशंकाओं के मद्देनजर यह फैसला लिया गया था।