पाकिस्तान का पूर्व मंत्री हज यात्रा में रिश्वत खाने का दोषी, 16 साल की जेल

इस्लामाबाद (3 जून) :  हज यात्रा से जुड़े भ्रष्टाचार के मामले में पाकिस्तान के एक पूर्व मंत्री हामिद सईद काज़मी को 16 साल कैद की सज़ा सुनाई गई है। काज़मी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) से जुड़े हैं। इस पार्टी की 2008 से 2013 के बीच पाकिस्तान में सरकार के वक्त काज़मी को बहुत असरदार मंत्री माने जाते थे।

डॉन अखबार की वेबसाइट की रिपोर्ट के मुताबिक केंद्रीय विशेष अदालत के जज मलिक नजीर अहमद ने पूर्व हज डायरेक्टर जनरल (डीजी) राव शकील को 40 साल जेल तथा धार्मिक मामलों के पूर्व संयुक्त सचिव आफताब असलम को 16 साल जेल की सजा सुनाई। कोर्ट के फैसला सुनाते ही तीनों को हिरासत में ले लिया गया। तीनों के पास इस्लामाबाद हाईकोर्ट में इस फैसले को चुनौती देने का अधिकार है।

दोषिओं पर 2009 में मक्का में पाकिस्तानी जायरीन के लिए घटिया स्तर की आवासीय व्यवस्था करने और इस प्रक्रिया में रिश्वत लेने का आरोप लगा था। साथ ही किराए के तौर पर भी जायरीन से अधिक रकम वसूली की गई थी। ऐसा करने से पाकिस्तान के कुल 35,000 जायरीन प्रभावित हुए थे। हर साल पाकिस्तान से करीब एक लाख लोग हज यात्रा के लिए सऊदी अरब जाते है।