INSIDE STORY: आतंकवाद पाकिस्तान के लिए बना 'भस्मासुर', सांप को पालोगे तो डसेगा ही

डॉ. संदीप कोहली,

नई दिल्ली (17 फरवरी): घर में सांप पालोगे, तो एक न एक दिन आपको ही डस लेगा। आजकल यही हाल पाकिस्तान का है। पाकिस्तान ने जिस आतंक को पाल-पोस कर बड़ा किया आज वही आतंकवाद उसको निगल रहा है। इसी का खौफनाक रूप कल पाकिस्तान के सिंध प्रांत में देखने को मिला। दुनियाभर में मशहूर सूफी संत लाल शाहबाज कलंदर की दरगाह पर गुरुवार शाम बड़ा आतंकी हमला हुआ। हमले में करीब 100 लोगों के मारे जाने की खबर है, जबकि 250 ये ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। मरने वालों में ज्यादातर महिलाएं और बच्चे शामिल थे। जब धमाका हुआ उस समय दरगाह में जलसा चल रहा थी जिसके कारण दरगाह जायरीनों से खचाखच भरी हुई थी। इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन ISIS ने ली है। पिछले एक हफ्ते में पाकिस्तान में यह 5वां आतंकी हमला है।

हिंदू-मुसलिम आस्था का प्रतीक था मशहूर मस्‍त कलंदर की दरगाह... सूफी संत लाल शाहबाज कलंदर दुनियाभर में दमादम मस्‍त कलंदर वाले सूफी के नाम से मशहूर हैं। महान सूफी कवि अमीर खुसरो ने इन्हीं शाहबाज कलंदर के सम्‍मान में दमादम मस्‍त कलंदर का गीत रचा था। बाद में इस गाने को कंपोज करने में पाकिस्तान की मशहूर गायिका नूरजहां, उस्ताद नुसरत फतेह अली खान, आबिदा परवीन ने अहम भूमिका निभायी। दरगाह की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कई सालों बाद भी ये गीत लोगों के जेहन में वैसे ही रचे-बसे हैं जैसे उस समय थे। सूफी परंपरा का प्रतीक बन चुके इस दरगाह का निर्माण 1356 में कराया गया था।

पिछले 12 सालों में 25 से अधिक दरगाहों पर हो चुके हमले... पाकिस्तान में बढ़ते कट्टरपंथ के कारण 2005 से 25 से अधिक सूफी दरगाह आतंकियों के निशाने पर रही हैं। पिछले साल 12 नवंबर को बलुचिस्तान में शाह नुरानी की दरगाह पर आतंकी हमला हुआ था, जिसमें 52 लोग मारे गए थे। इसको निशाना तालिबान ने बनाया था। तहरीक-ए-तालिबान जिसको शुरू में आईएसआई ने अफगानिस्तान में आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाला पोसा वही तालिबान पाकिस्तान की सूफी दरगाहों को निशाना बनाता रहा है। अब पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन ISIS ने भी कदम रख दिया है। ISIS इराक और सीरिया में सूफी संतों की मजारों को निशाना बनाता रहा है। अब वे यही पाकिस्तान में कर रहा है।  ISIS कट्टरपंथी विचारधारा का संगठन है जिसमें सूफीज्म की कोई जगह नहीं है।

पाक में इस साल चौथा बड़ा आतंकी हमला....

    * पाकिस्तान पर इस साल का यह चौथा सबसे बड़ा आतंकी हमला है।

    * 20 जनवरी को पाकिस्तान के खुर्रम प्रांत में ब्लास्ट में 25 लोग मारे गए थे।

    * 13 फरवरी को लाहौर मॉल रोड ब्लास्ट में 14 लोग मारे गए थे।

    * 15 फरवरी को मोहम्मद एजेंसी में ब्लास्ट में 8 लोग मारे गए थे।

    * 16 फरवरी यानी कल सिंध प्रान्त में ब्लास्ट में 100 लोग मारे गए।

    * पिछले साल अगस्त में क्वेटा के सरकारी अस्पताल में फिदायीन हमला हुआ था।

    * इस हमले में 74 लोगों की मौत हुई और 100 घायल हुए जिसमें ज्यादातर वकील थे।

    * इससे पहले 27 मार्च को लाहौर के गुलशन-ए-इकबाल पार्क में फिदायीन हमला हुआ था।

    * इस हमले में 74 लोगों की मौत हुई, 338 घायल हुए, जिसमें ज्यादातर औरतें और बच्चे थे।

पाकिस्तान में पिछले कुछ सालों में बड़े आतंकी हमले-

    * 15 मार्च 2015- लाहौर में आतंकियों ने चर्च को निशाना बनाया, हमले में 14 की मौत 60 घायल।

    * 14 फरवरी 2015- पेशावर की मस्जिद में नमाज के वक्त ब्लास्ट 21 की मौत, 50 से ज्यादा जख्मी।

    * 9 जून 2014- कराची के जिन्ना एयरपोर्ट पर आतंकी हमला, 36 लोग मारे गए।

    * 3 नवंबर 2014- आतंकियों का वाघा सीमा पर आत्घाती हमला, 61 की मौत सैकड़ों घायल।

    * 17 दिसंबर 2014- पेशावर आर्मी स्कूल पर आतंकी हमला 141 की मौत जिसमें 132 बच्चे शामिल थे।

कैसे पाकिस्तान खुद बन रहा है आतंक का शिकार

बलूचिस्तान में 15 साल में 1400 से ज्यादा हमले...

    * बलूचिस्तान में पिछले 10-15 साल में आतंकी हमले बढ़े हैं।

    * पिछले 15 साल में शिया कम्युनिटी को टारगेट करके 1400 से ज्यादा हमले हो चुके हैं।

    * बलूचिस्तान में 13 साल में करीब 38 सुसाइड अटैक हो चुके हैं।

    * क्वेटा शहर में 2016 में 36 आतंकी हमले हुए हैं, इनमें 119 लोगों की मौत हुई।

उत्तरी वजीरिस्तान में पाक सेना ने चला रखा है ऑपरेशन 'जर्ब-ए-अज्ब'...

    * सेना उत्तरी वजीरिस्तान में जून 2014 से ऑपरेशन 'जर्ब-ए-अज्ब'चला रही है।

    * सरकार ने इस ऑपरेशन पर अब तक 190 अरब रुपए खर्च किए हैं।

    * इस ऑपरेशन की इस वजह से 10 लाख लोगों को घर छोड़ने पड़े हैं।

    * इस ऑपरेशन से तालिबान को बड़ा नुकसान पहुंचा है।

    * 19 महीने उसके 3400 से ज्यादा तालीबानी लड़ाके मारे गए हैं।

    * पाकिस्तान आर्मी के भी 500 अफसर और जवान शहीद हैं।

    * इसके अलावा आतंकवादियों के 837 ठिकाने नष्ट किए जा चुके हैं।

    * 253 टन विस्फोटक बरामद किए जा चुके हैं।

तालिबान कर रहा है ऑपरेशन 'जर्ब-ए-अज्ब' के खिलाफ हमला...

    * इसी ऑपरेशन के खिलाफ दिसंबर 2014 में तालिबान ने पेशावर के स्कूल पर हमला किया।

    * जिसमें 141 लोगों समेत 132 मासूम बच्चों की जान चली गई थी।

    * स्कूलों की हिफाजत के लिए 11000 सैनिकों की टुकड़ी तैयार कर दी।

    * लेकिन इतनी बड़ी तैनाती के बावजूद पेशावर की बाचा खान यूनिवर्सिटी पर हमला हो गया।

    * हमले में 22 छात्रों की मौत हुई और 20 छात्र बुरी तरह जख्मी हुए।

    * तहरीक-ए-तालिबान का कहना है कि यह ऑपरेशन 'जर्ब-ए-अज्ब' का बदला है।

9/11 के बाद से लेकर अब तक पाकिस्तान का हाल

    * 2001 से 2013 तक पाकिस्तान में 49000 आम नागरिक मारे जा चुके हैं।

    * 2001 से 2008 तक 24 हजार आम नागरिक और फौजी मारे गए।

    * वहीं पिछले 5 सालों में 25 हजार आम नागरिक और फौजी मारे गए हैं।

    * 2003 में जहां साल में 164 आतंकी हमले हो रहे थे 2009 तक 3,314 आतंकी हमले हुए।

    * अबतक पाकिस्तान में 13,721 आतंकी हमले हो चुके हैं जो इराक से कुछ ही कम हैं

    * 2001 से 2005 तक पाकिस्तान में 523 आतंकी हमले हुए थे।

    * लेकिन 2007 से 2013 तक 13,198 आतंकी हमले हो चुके हैं।

    * 2008 से 2013 तक 15,681 पाकिस्तान सेना के जवान मारे जा चुके है

    * पिछले पांच सालों में हुए 235 आत्मघाती, 9,257 रॉकेट और 4,256 बम ब्लास्ट हुए

    * पाकिस्तान में इस हमलों से 1030 स्कूल और कॉलेज बर्बाद हो चुके हैं।

    * US State Department की 2015 आतंकवाद पर रिपोर्ट के मुताबिक।

    * दुनिया में 55 फीसदी आतंकी हमलों के शिकार 5 देशों में से एक पाकिस्तान है।

    * Global Terrorism Index Report 2015 के मुताबिक।

    * दुनिया में 78 फीसदी आतंकी हमलों के शिकार 5 देशों में से एक पाकिस्तान है।

पाकिस्तान के मदरसों में पल रहे आतंकवादी...

    * आतंकवाद को बढ़ावा देने में पाक के मदरसे अहम भूमिका निभा रहे हैं।

    * अमेरिकी सीनेटर क्रिस मर्फी ने इस साल जनवरी में यूएस सीनेट में यह बात बताई।

    * मर्फी के मुताबिक, 1956 तक पाकिस्तान में 244 मदरसे थे, आज यहां 24,000 मदरसे हैं।

    * सऊदी से आ रहे पैसों का इस्तेमाल पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ावा देने में कर रहा है।

    * पाकिस्तान सरकार ने खुद 2015 में 200 मदरसों पर ताला लगाया था।

    * 200 से ज्यादा मदरसों के बैंक खातों पर रोक लगा दी गई थी।

    * बहावलपुर में जैश-ए-मोहम्‍मद का सरगना मसूद अजहर मदरसा चलाता है।

    * जैश के इस मदरसे में इस समय 500 से ज्‍यादा प्रशिक्षित आतंकी हैं।

आतंकी संगठन जिसे पाकिस्तान ने अफगानिस्तान में हमले के लिए पाला-पोसा...

1) तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान

2) लश्कर-ए-ओमार

3) सिपाह-ए-सहाबा

4) तहरीक-ए-जाफेरिया

5) तहरीक-ए-नफज़-ए-शरियत-ए-मोहम्मद

6) लश्कर-ए-जांघवी

7) सिपाह-ए-मोहम्मद पाकिस्तान

8) जमात-उल-फुकरा

9) नदीम कमांडो

10)पॉपूलर फ्रंट फॉर आर्म्ड रेसिसटेंस

आतंकी संगठन जिसे पाकिस्तान के खुफिया एजेंसी ISI भारत में हमले के लिए पाल-पोस रही है...

1) लश्कर-ए-तैयबा

2) जैश-ए-मुहम्मद

3) हरकत उल मुजाहिदीन

4) हरकत उल जेहाद-ए-इस्लामी

5) हिजबुल मुजाहिदीन

6) जम्मू-कश्मीर नेशनल लिबरेशन आर्मी

7) अल बदर

8) जमात उल मुजाहिदीन

9) हरकत उल अंसर

10)लश्कर-ए-जब्बर