आतंकी संगठनों पर कार्रवाई नहीं कर रहा पाकिस्तान, अमेरिका एेसे सिखाएगा सबक

नई दिल्ली (25 मई): अमेरिका ने पाकिस्तान पर अफगान तालिबान और हक्कानी नेटवर्क जैसे आंतकवादी गुटों पनाह देने और उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है। अमेरिका ने इससे पहले पाकिस्तान को दी जाने वाली 1.15 अरब डॉलर की सुरक्षा सहायता पर जनवरी में रोक लगा दी थी।

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने गुरुवार को कहा कि पाकिस्तान को 2018 में बेहद कम धनराशि दी गई है। साथ ही अगले साल इसमें और कटौती की जा सकती है। 

पोम्पिओ सांसद डाना रोहराबाचेर ने प्रश्न का जवाब दे रहे थे जिसमें उन्होंने कहा था कि अमेरिका को पाकिस्तान को किसी भी प्रकार की आर्थिक सहायता तब तक रोक देनी चाहिए जब तक कि वह डॉक्टर शकील आफरीदी को रिहा नहीं कर देता। शकील वह चिकित्सक हैं जिन्होंने ओसामा बिन लादेन के पाकिस्तान में छिपे होने के सबूत दिए थे।

पोम्पिओ ने कहा कि सीआईए के निदेशक के रूप में उन्होंने अफरीदी के मुद्दे पर काफी काम किया था लेकिन उसमें उन्हें सफलता नहीं मिली।  पोम्पिओ ने कहा कि आर्थिक सहायता के अलावा अमेरिका को पाकिस्तान में अपने राजनयिकों के साथ हुए सलूक को भी ध्यान रखना चाहिए।