पाकिस्तान ने जारी किया मिसाइल लॉन्च करने का झूठा वीडियो!

नई दिल्ली(10 जनवरी): पाकिस्तान ने बड़े गर्व के साथ सोमवार को बाबर-3 नाम की क्रूज मिसाइल का सबमरीन से सफलता टेस्ट करने का ऐलान किया था। लेकिन जो रिपोर्ट मिल रही है उसके मुताबिक इस्लामाबाद ने लॉन्च का एक फर्जी वीडियो जारी किया।

कुछ विशेषज्ञों के मुताबिक उनके पास इसका तकनीकी सबूत मौजूद है जो पाक के इस दावे को झूठा करार देता है। उनके मुताबिक पाकिस्तान ने कम्पयूटर ग्राफिक्स का इस्तेमाल कर मिसाइल लॉन्च करने का वीडियो जारी किया।

- बता दें पाकिस्तान ने सोमवार को पहली बार पनडुब्बी से मार करने वाली और परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम क्रूज मिसाइल बाबर-3 का सफल परीक्षण का दावा किया। भारत पहले ही पनडुब्बी से मार करने वाली ब्रह्मोस मिसाइल से लैस है।

- पाकिस्तान सेनाओं की प्रवक्ता आईएसपीआर ने कहा कि हिंद महासागर में पानी के अंदर एक मोबाइल प्लेटफार्म से मिसाइल का परीक्षण किया गया और जिसने सतह पर तय किए गए लक्ष्य पर सटीक निशाना साधा। इसका एक वीडियो भी जारी किया गया।

- बाबर-3 सतह से मार करने वाली बाबर-2 मिसाइल का समुद्री संस्करण है। बाबर-2 का दिसंबर 2016 में सफल परीक्षण किया गया था।

- आईएसपीआर के डीजी मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि बाबर-3 ध्वनि की गति से तेज स्टील्थ तकनीक, अत्याधुनिक गाइडेंस और नेवीगेशन सिस्टम से लैस है। यह खतरों को लेकर पाकिस्तान की प्रतिरोधक क्षमता मजबूत करती है।

- भारत का परोक्ष जिक्र करते हुए गफूर ने कहा कि पड़ोस में परमाणु हथियारों को लेकर अपनाई जा रही रणनीति और रुख को देखते हुए यह पाकिस्तान की बड़ी वैज्ञानिक कामयाबी है। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इसके लिए सेना को मुबारकबाद दी।

- उन्होंने कहा कि पाकिस्तान पड़ोसियों के साथ शांतिपूर्ण तरीके से रहने में विश्वास करता है, लेकिन इससे परीक्षण से देश की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ी है। उन्होंने दावा किया कि मिसाइल दुश्मन के रडार और मिसाइल रक्षा प्रणाली को चकमा देने में सक्षम है।

- परीक्षण के दौरान पाक सेना के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमेटी के अध्यक्ष जनरल जुबैर महमूद हयात, सामरिक योजना डिवीजन के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल मजहर जमील और अन्य शीर्ष अधिकारी मौजूद थे। जनरल हयात ने कहा कि सफल परीक्षण ने साबित किया है कि पाकिस्तान हथियारों के मामले में आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है। सेनाध्यक्ष जनरल कमर जावेद बाजवा ने भी सफल परीक्षण के लिए वैज्ञानिकों को बधाई दी।