'भारत की बढती फौजी ताकत से पाकिस्तान परेशान'

नई दिल्ली(11 फरवरी): भारत की बढ़ती फौजी ताकत से पाकिस्तान परेशान है। मंगलवार को जारी हुई इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ स्ट्रैटजिक स्टडीज (IISS) की एनुअल रिपोर्ट 'मिलिट्री बैलेंस 2016' के मुताबिक मोदी के पीएम बनने के बाद पाकिस्तान को उम्मीद थी कि वे रिश्ते सुधारने को लेकर नवाज शरीफ से कोई डील कर लेंगे। लेकिन ऐसा हुआ नहीं। इसके बाद से पाकिस्तानी फौज और परेशान है। 

इस रिपोर्ट में आईआईएसएस के सीनियर एक्सपर्ट बेन बैरी ने भारत-पाक रिश्तों पर अपनी स्टडी बताई है। बैरी भारत-पाक मिलिट्री-स्ट्रैटजिक रिलेशंस पर लंबे समय से काम कर रहे हैं। वे ब्रिटिश आर्मी में ब्रिगेडियर रहे हैं। बैरी के मुताबिक नरेंद्र मोदी के सत्ता में आने पर इस्लामाबाद में काफी उत्साह का माहौल था।

पाकिस्तान सरकार और कम्युनिटी को लगता था कि मोदी के सत्ता संभालते ही दोनों देशों के बीच रिश्ते सुधरेंगे और तनाव कम होगा। जब इस दिशा में कुछ नहीं हुआ तो पाकिस्तान को निराशा हुई।  बैरी के मुताबिक वहीं पाक भारत की पारंपरिक आर्मी में मॉडर्नाइजेशन पर नजर रखे हुए है। भारत का अपनी आर्मी में अपाचे हेलिकॉप्टर, सी-130 एयरक्राफ्ट और टी-90 टैंक जैसे एडवान्स्ड वेपन्स शामिल करना पाकिस्तान की परेशानी की वजह है। यही नहीं इस्लामाबाद भारत-यूएस न्यूक्लियर डील पर भी नजर रखे हुए है।