'यूनिवर्सिटी में दूर-दूर रहें छात्र-छात्राएं'...ये आदेश देने वाला चीफ प्रॉक्टर सस्पेंड

नई दिल्ली (16 अप्रैल): पाकिस्तान की स्वात यूनिवर्सिटी के चीफ प्रॉक्टर ने एक बेहद रूढ़िवादी नोटिस जारी किया। जिसमें छात्र-छात्राओं से कहा गया कि उनको अगर कैम्पस के भीतर या बाहर एक साथ नजदीकी से घुलते मिलते पाया गया तो उन्हें दंडित किया जाएगा। 

नोटिस में इसका जिक्र किया था कि अनुशासनात्मक प्रावधान के तहत स्टूडेंट्स के पैरेंट्स के साथ एक आपातकालीन बैठक भी बुलाई जाएगी। हालांकि,  इस नोटिस को जारी करने के लिए यूनिवर्सिटी ने अपने चीफ प्रॉक्टर हजरत बिलाल को सस्पैंड कर दिया है। उन्होंने इसे जारी करने से पहले वाइस-चांसलर को इसकी सूचना नहीं दी थी। यूनिवर्सिटी के प्रवक्ता आफताब ने इसकी जानकारी दी।

'डीएनए' की रिपोर्ट के मुताबिक, 14 अप्रैल 2016 को जारी नोटिस में कहा गया कि कैम्पस परिसर के अंदर या बाहर किसी को भी अपने विपरीत लिंग के साथी के साथ बातचीत करने की अब अनुमति नहीं होगी। अगर ऐसा पाया जाता है, तो उनपर फाइन लगाया जाएगा। इसमें कहा गया है कि लड़के-लड़कियों के एक साथ बैठे या घूमते पाए जाने पर उन्हें 50 रुपए से 5,000 रुपए का जुर्माना देना होगा। 

प्रवक्ता ने कहा, लैंगिक भेदभाव को लेकर यह नोटिस वापस ले लिया गया है। साथ ही मामले में जांच के लिए एक समिति भी गठित की है। वाइस चांसलर ने साफ किया है, कि यूनिवर्सिटी में लैंगिक भेदभाव के लिए कोई भी जगह नहीं है। उन्होंने इस नोटिस की निंदा भी की है। इस समय यूनिवर्सिटी के 18 डिपार्टमेंट्स में करीब 2,000 स्टूडेंट्स दाखिल हैं।