पाकिस्तान: दरगाह ब्लास्ट में 100 से ज्यादा की मौत, ISIS ने ली जिम्मेदारी

कराची (16 फरवरी): पाकिस्तान के सिंध प्रांत के सहवान शहर में स्थित लाल शाहबाज कलंदर दरगाह में ISIS के एक आत्मघाती हमलावर द्वारा किए गए विस्फोट में करीब 100 लोगों की मौत हो गई और लगभग 250 लोग जख्मी हो गए है।

पाकिस्तान में एक हफ्ते के अंदर यह 5वां आतंकी हमला है। हमलावर ‘सुनहरे गेट’ से दरगाह के भीतर दाखिल हुआ। पुलिस के मुताबिक अनुसार यह धमाका सूफी रस्म ‘धमाल’ के दौरान हुआ। विस्फोट के समय दरगाह के परिसर के भीतर सैकड़ों की संख्या में जायरीन मौजूद थे। आतंकी पहले ग्रेनेड फेंका और फिर खुद को उड़ा लिया। सहवान थाने के एसएचओ रसूल बख्श ने बताया कि करीब 100 लोगों की मौत हो गई जिनमें कई महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।

एदी फाउंडेशन के फैसल एदी ने इस बात की पुष्टि की है कि 60 शवों को हैदराबाद और जमशोरो के अस्पताल में ले जाया गया है। पाकिस्तान में साल 2005 से देश की 25 से ज्यादा दरगाहों पर हमले हुए हैं।

अस्पतालों में आपात स्थिति घोषित कर दी गई है और बचाव अभियान शुरू कर दिया गया है। सेना ने कहा कि सी130 विमान के जरिए घायलों को नवाबशाह लाया जाएगा। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने इस हमले की निंदा की पाकिस्तान के लोगों से एकजुट होकर खड़े होने की अपील की है।

सूफी दरगाह पर यह हमला उस वक्त हुआ है जब एक दिन पहले ही पाकिस्तान सरकार ने देश में आतंकी हमलों में हुई बढ़ोतरी को देखते हुए उन सभी तत्वों को मिटाने का संकल्प लिया था जो देश में शांति और सुरक्षा पर खतरा पैदा कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने देश में सुरक्षा हालात की समीक्षा के लिए एक उच्चस्तरीय सुरक्षा बैठक की जिसमें यह फैसला लिया गया।