आतंकियों के लिए स्वर्ग बन गया है पाकिस्तान-ओबामा

नई दिल्ली (13 जनवरी): अपने कार्यकाल के आखरी भाषण में दोनों सदनों के संयुक्त सत्र को सम्बोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि अफगानिस्तान और पाकिस्तान आतंकियो के लिए स्वर्ग बन गये है।  आईएसआईएस की बजह से विश्व की राजनीति में परिवर्तन आये हैं। मध्य एशिया, सेंट्रल अमेरिका, अफ्रीका में आईएसआईएस के गढ बन गये हैं।  राजनीतिक परिवर्तन एक प़ॉलिटिकल प्रोसेस है। मैं परिवर्तन में विश्वास करता हूं क्यों कि मैं आपमें, अमेरिका में विश्वास करता हूं। ओवामा ने पहली बार राष्ट्रपति बनने के बाद अपने पहले भाषण में 'आई केन चैंज' का उपयोग किया था। उसी 'चैंज' के साथ अपने आखिरी भाषण का समापन भी किया।

ओबामा के आखिरी भाषण की अमेरिका सहित दुनिया भर की मीडिया में तारीफ हो रही है। मीडिया विश्लेषकों ने कहा है कि यह भाषण किसी अमेरिकी राष्ट्रपति नीतियों के बखान से ज्यादा उसके व्यापक विजन को बताने वाला रहा। अपने कार्यकाल में हुई नस्ली हिंसा, भेदभाव और ढलमुल आर्थिक स्थिति का जिक्र भी किया तो यह  भी कहा कि उनके कार्यकाल में अमेरिका ने इतना कुछ हासिल किया है जिसको देखकर दुनिया उससे ईर्ष्या करने लगी है।  उन्होंने कहा कि अमेरिका ब्लैक-व्हाईट, एशियन लैटिन, गे-स्ट्रेट सभी का। सभी को समान अधिकार हैं। हम लोगों को भय और ध्रुवीकरण की राजनीति नहीं करनी चाहिए। प़ॉलिटिक्स में परिवर्तन आते हैं। उन्हे सहजता से स्वीकाराना होगा।

ओबामा ने कहा भविष्य में आने वाली चुनौतियों से हम तभी जीत सकेंगे जब हम परिर्वतन पर पैनी  निगाह रखेंगे। उन्होंने कहा कि हमने भय पर विजय प्राप्त कर अपना स्वर्णिम इतिहास लिखा है। ओबामा ने आगामी चुनाव के लिए चल रहे प्रचार में मुस्लिमों को निशाना बनाये जाने के मुद्दे पर कहा कि हम अमेरीकियों को महज आईएसआईएस की वजह से सभी मुस्लिमों को दोषी नहीं बनाना चाहिए। गौर तलब है कि राष्ट्रपति पद के लिए रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनाल्ड ट्रम्प अपनी प्रचार सभाओँ में 'वी डॉन्ट मुस्लिम्स' का नारा दे रहे हैं। उनके इस तरह के भाषणों पर दुनिया भर से प्रतिक्रिया आ रही है। लेकिन अमेरिकी वोटर्स का एक बड़ा वर्ग डोनाल्ड को सपोर्ट कर रहा है।