पाक आर्मी चीफ बोले- हम दोस्त बनाना जानते हैं लेकिन दुश्मनी भी निभानी आती है

नई दिल्ली( 7 सितंबर): पाकिस्तानी आर्मी चीफ जनरल राहील शरीफ ने मंगलवार को दंभ भरते हुए कहा कि उनका मुल्क पहले मजबूत था और अब इतना मजबूत है कि कोई दुःसाहस नहीं कर सकता। शरीफ ने कहा, 'हमारे लोगों ने जो शहादत दी है वह बेकार नहीं जाएगी। मैं मुल्क के दुश्मनों को बता देना चाहता हूं कि पाकिस्तान को अब हराया नहीं जा सकता है।'

- जनरल राहील शरीफ पाकिस्तान में डिफेंस डे के मौके पर जनरल हेडक्वॉर्टर में आयोजित एक समारोह को संबोधित कर रहे थे। आर्मी चीफ ने पाकिस्तान के हक में लड़ने वालों को श्रद्धांजलि भी दी। शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान अफगानिस्तान में ईमानदारी से शांति प्रक्रिया को बाहाल करने में लगा है।

- आर्मी चीफ ने कहा कि आतंकवाद के खात्मे के लिए कानून को मजबूत बनाए जाने की जरूरत है। शरीफ ने कहा कि मैं पाकिस्तान के दुश्मनों से साफ कर देना चाहता हूं कि पाक पहले मजबूत था अब अभेद्य है। उन्होंने कहा कि उत्तरी वजीरिस्तान आतंकवादियों का सुरक्षित ठिकाना बन गया है लेकिन आर्मी ने ऑपरेशन जर्ब-ए-अज्ब के जरिए भारी कामयाबी हासिल की है।

- उन्होंने कहा, 'खुद को जिंदा रखने के लिए हमलोग अल्लाह के बताए रास्ते पर हर कदम को अख्तियार करेंगे। हमलोग यह जानते हैं कि दोस्त कैसे बनाए जाते हैं लेकिन हम दुश्मनों को कीमत चुकाना भी जानते हैं। कुछ ऐसे तत्व हैं जो भ्रम पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। देश की सुरक्षा के लिए पाकिस्तानी मिलिटरी कोई भी कदम उठाने के लिए तैयार है।'