INSIDE STORY: दुनिया के सबसे बड़े मंच पर खुली पाकिस्तान की पोल, शरीफ ने किया कबूल- PAK है #TerroristState!

डॉ. संदीप कोहली,

नई दिल्ली (22 सितंबर): पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने उम्‍मीद के अनुरूप UN जनरल एसेंबली में एक बार फिर कश्‍मीर का राग अलापा। लेकिन इस बार वो कुछ ऐसा बोल गए जिसने पूरी दुनिया के सामने पाकिस्तान को बेनकाब कर दिया है। भारत पिछले दो दशकों से पाकिस्तान के जिस सच को दुनिया के सामने लाने की कोशिश कर रहा है उस पर से नवाज शरीफ ने खुद पर्दा उठा दिया है। दुनिया के सबसे बड़े मंच 'UN जनरल एसेंबली' से नवाज शरीफ ने घोषित कर दिया कि पाकिस्तान एक 'आतंकी मुल्क' है। पाकिस्तान आतंकवादियों को सपोर्ट करता है। पाकिस्तान आतंकवादियों को पनाह देता है। पाकिस्तान भारत में हमला करने के लिए आतंकियों की घुसपैठ कराता है। पाकिस्तान हिजबुल मुजाहिदीन जैसे आतंकी संगठन को खुलेआम मदद कर रहा है। वो हिजबुल मुजाहिदीन जिसे खुद संयुक्त राष्ट्र, अमेरिका और ब्रिटेन ने इंटरनेशनल टेरेरिस्ट ऑर्गेनाइजेशन घोषित कर रखा है। जानिए UN जनरल एसेंबली में खुद पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने कैसे खोली PAK की पोल...

UN जनरल एसेंबली में नवाज शरीफ ने क्या कहा... - 19 मिनट की भाषण में आधा समय कश्मीर पर बोले नवाज शरीफ। - भाषण में उरी में हुए आतंकी हमले का जिक्र तक नहीं किया। - शरीफ ने हिजबुल के आतंकी बुरहान वानी को शहीद तक बताया। - आतंकी बुरहान वानी की तारीफ करते हुए उसे कश्मीर का युवा नेता बताया।  - कहा जिसकी हत्या हुई वह यंग लीडर बुरहान वानी आज के कश्मीर की आवाज है। - नवाज ने कहा कश्मीर इश्यू के समाधान के बिना दोनों देशों के बीच शांति स्थापित नहीं हो सकती है।  - इस मसले का हल UN के प्रस्ताव को लागू किए बिना नहीं हो सकता। - हम भारत के साथ बातचीत चाहते हैं लेकिन शर्तें पाकिस्तान को मंजूर नहीं है। 

इन बातों से साबित हो जाता है कि जाने-अनजाने पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने दुनिया के सबसे बड़े मंच से कबूल कर लिया कि पाकिस्तान बुरहान वानी जैसे इंटरनेशनल टेरेरिस्ट ऑर्गेनाइजेशन हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों को सपोर्ट कर रहा है। भारत के खिलाफ प्रोक्सी वॉर चला रहा है। जिसमें पाकिस्तान की सरकार और सेना दोनों आतंकियों को मदद करती है। उरी हमले के बाद वैसे भी पाकिस्तान चौतरफा निशाने पर है। जनरल एसेंबली में स्पीच देने से पहले ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को 440 वोल्ट का बड़ा झटका लग चुका है। यूएन जनरल एसेंबली से अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा पाकिस्तान को साफ-साफ शब्दों में कह चुके हैं आतंकवाद का समर्थन देने वाले देश छिपकर वार करना बंद करें। यही नहीं अमेरिकी कांग्रेस में पाकिस्तान को आतंकी देश करार दिए जाने के लिए बिल तक पेश कर दिया गया है। चीन जैसा दोस्त भी उसके समर्थन में खुलकर नहीं बोल रहा है। पाकिस्तान को अलग-थलग करने की मोदी सरकार की रणनीति कामयाब होती दिख रही है। 

नवाज शरीफ के भाषण के बाद भारत का दोतरफा हमला

विदेश राज्य मंत्री एम.जे. अकबर का हमला... - शरीफ के बयान के बाद UN में भारत के विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने एक प्रेस ब्रीफिंग की। - ब्रीफिंग में एमजे अकबर ने साफ कहा कि UN जनरल एसेंबली में शरीफ ने झूठ का पुलिंदा पेश किया है। - एमजे अकबर ने कहा हमने जनरल एसेंबली में एक आतंकवादी का स्तुति सुनी।  - बुरहान वानी हिजबुल का स्वघोषित कमांडर था।  - यह हैरान करने वाली बात है कि एक देश का लीडर एक आतंकवादी के बारे में तारीफ कैसे कर सकता है। - पाकिस्तान एक ऐसा देश है जो हाथ में बंदूक लेकर बातचीत करना चाहता है।  - लेकिन भारत कभी भी इन टेक्टिक्स-ब्लैकमेल के आगे झुकेगा नहीं। - इससे पहले विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने नवाज शरीफे के भाषण की निंदा की। - कहा, पाकिस्तान अपनी जमीन पर आतंकवादियों को शरण ना दे और आतंकवाद का खात्मा करे।  - आतंकी बुरहान वानी की तारीफ बताता है कि पाकिस्तान का आतंकवाद से रिश्ता बरकरार है।

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=VAjiwXbjaJY[/embed]

UN जनरल एसेंबली में भारत की PAK को खरी-खरी... - यूएन में भारत के स्थायी मिशन की फर्स्ट सेक्रेटरी ने पाकिस्तान को सुनाई खरी-खरी। - ऐनम गंभीर ने राइट-ऑफ-रिप्लाई का इस्तेमाल करते हुए पाकिस्तान पर लगाया झूठ बोलने का आरोप। - ऐनम गंभीर ने कहा मानव अधिकार उल्लंघन का सबसे खराब मामला आतंकवाद को बढ़ावा देना है। - इसका इसका राष्ट्र नीति की तरह इस्तेमाल किया जाना वॉर क्राइम है।  - जब एक देश की पॉलिसी ही वॉर क्राइम हो तो उसके आस-पास के देशों पर इसका असर समझा जा सकता है।  - मेरा देश और हमारे पड़ोसी देश आज पाकिस्तानी के प्रायोजित आतंकवाद को झेल रहे हैं। - अब तो  पाकिस्तानी के प्रायोजित आतंकवाद दुनिया के कई और क्षेत्रों में भी पहुंच चुका है। - संयुक्त राष्ट्र द्वारा घोषित आतंकवादी पाकिस्तान में खुलेआम घूमते हैं और सरकार की मदद से काम करते हैं। - भारत पाकिस्तान को “आतंकवादी राष्ट्र” और “युद्ध अपराध” में लिप्त देश के तौर पर देखता है। - पाकिस्तान आतंकियों की मदद के लिए उन तक अरबों डॉलर पहुंचाता है। - सरकार की इजाजत से कई आतंकी संगठन अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों के बावजूद चंदा वसूलते हैं। - पाकिस्तान में लोकतंत्र का नाम नहीं है और वो अपनी जनता के खिलाफ भी आतंकवाद का प्रयोग करता है।

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=IFlXG93aP8k[/embed]

कौन था बुरहान वानी और कैसे मारा गया... - बुराहन मुजफ्फर वानी आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का कमांडर था  - वानी कश्मीर में त्राल की अच्छी और संपन्न फैमिली से था, पिता स्कूल प्रिन्सिपल थे। - 15 साल की उम्र का था जब उसने हिजबुल मुजाहिदीन का दामन थामा था। - बुराहन वानी सीधे हिजबुल के सरगाना सैयद सलाउद्दीन और हाफिज सईद के संपर्क में था। - दक्षिण कश्मीर में पढ़े-लिखे युवाओं को आतंकी बनाने का काम कर रहा था बुरहान वानी। - बुरहान 2014 में सुर्खियों में तब आया था जब उसने फेसबुक पर आर्मी की वर्दी में हथियार लिए तस्वीर डाली। - हिजबुल का 'पोस्टर बॉय' बन गया था बुरहान वानी सोशल मीडिया के माध्‍यम से युवाओं को रिझाता था। - बुरहान दक्षिण कश्मीर में 11 से 15 आतंकियों का नेतृत्व कर रहा था और बड़ी घटना को अंजाम देने के फिराक में था। - सुरक्षा बलों ने बुरहान वानी पर 10 लाख का इनाम घोषित किया था।