पीएम मोदी ने बनाया प्लान, अब बूंद-बूंद के लिए तरस जाएगा पाकिस्तान

नई दिल्ली (1 नवंबर): पाकिस्तान के खिलाफ अघोषित युद्ध छेड़ रखा है। भारत जहां सरहद पर पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दे रहा है। इतना ही नहीं शैतान पाकिस्तान को सबक सीखाने के लिए भारत आंतर्राष्ट्रीय से लेकर हर मोर्चे पर का कर रहा है। फिलहाल भारत सरकार एक ऐसी रणनीति पर काम कर रही है जिससे जल्द ही पाकिस्तान बूंद-बूंद पानी के लिए तरस जाएगा और उसके कई इलाका रेगिस्तान में बदल जाएगा। भारत पानी के जरिए पाकिस्तान की घेराबंदी जुटा है। 


दरअसल, पाकिस्तान के पानी की जरूरत का एक बड़ा हिस्सा भारत की पांच नदी सिंधु, झेलम, चिनाब, रावी और व्यास से पूरा होता है। पाकिस्तान की जरूरत को देखते हुए भारत अबतक अपने हिस्से के पानी का भी इस्तेमाल नहीं करता था। इसके बावजूद इस समय पाकिस्तान में पानी की बड़ी किल्लत है। कराची जैसे इलाकों में पानी के लिए लंबी लंबी लाइनें लगती हैं। पाकिस्तान ने आजादी के बाद से आज तक पानी की किसी भी बड़ी योजना पर काम नहीं किया। पाकिस्तान की खेती और सिंचाई का भारत की नदियों पर ही निर्भर हैं। पाकिस्तानी सरकारों ने पानी और सिंचाई की जगह मिलिट्री के बजट पर खर्च किया। जानकारों की माने तो पानी की किल्लत को दूर करने लिए पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर पर कब्जे के सपने देख रहा है। 


समझौते के तहत भारत 20 फीसदी पानी का इस्तेमाल कर सकता है। भारत अब उस पानी के इस्तेमाल की योजना बना रहा है।भारत सीधे सीधे सिंधु जल संधि खत्म नहीं कर सकता है क्योंकि इससे अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी में भारत की छवि खराब हो सकती है। यही कारण है कि भारत ने पाकिस्तान को अलग-अलग मोर्चे से घेरना शुरू कर दिया है।