जेरुशलम पर ट्रंप के बयान का सऊदी अरब और पाक विरोध

नई दिल्ली (26 सितंबर): अमेरिकी राष्ट्रपति पद के रिपब्लिकन प्रत्याशी डोनल्ड ट्रंप और इसराइली प्रधानमंत्री बेनजामिन नेतन्याहू की मुलाकात पर पाकिस्तान और सऊदी अरब ने अनौपचारिक रूप से तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार ट्रंप ने इसराइली प्रधानमंत्री को आश्वासन दिया है कि अगर वो अमेरिका के अगले राष्ट्रपति चुने जाते हैं तो वो जेरुशलम को इसराइल की अविभाजित राजधानी की मान्यता देंगे।

नेतन्याहू से ट्रंप ने यह मुलाकात अपने निवास पर की थी। ट्रंप का बयान आया है कि जेरुशलम यहूदियों की तीन हजार साल पुरानी राजधानी है। जबकि, पाकिस्तान और सऊदी अरब की ओर से अनौपचारिक रूप से कहा गया है कि यह ट्रंप की इस्लाम विरोधी नीति के तहत दिया गया बयान है। इस बयान के जरिये वो अमेरिकियों की भावनाओँ को भड़का कर वोट हथियाना चाहते हैं।