'बातचीत से भाग रहा है भारत'

नई दिल्ली(2 जून):  पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने आरोप लगाते हुए कहा कि पठानकोट आतंकी हमले में संयुक्त जांच की पेशकश के बावजूद भारत बातचीत से 'दूर भाग रहा' है। उन्होंने कश्मीर का मुद्दा भी उठाते हुए कहा कि यह बटवारे का 'अधूरा एजेंडाÓ है और क्षेत्रीय तनाव के लिए जिम्मेदार भी है।

पाकिस्तानी संसद के संयुक्त सत्र को बुधवार को संबोधित करते हुए हुसैन ने कहा कि पाकिस्तान द्वारा भारत के साथ बातचीत की शुरुआत की कोशिशें और पठानकोट आतंकी हमले में संयुक्त जांच की पेशकश के बावजूद विदेश सचिव वार्ता निलंबित पड़ी है। इसे लेकर पाकिस्तान चिंतित है। उन्होंने आगे कहा, हमारा मानना है कि क्षेत्र में तनाव की मुख्य वजह कश्मीर मुद्दा है। उपमहाद्वीप के हुए बटवारे का यह अधूरा एजेंडा है। वहां के लोगों की इच्छाओं और संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के आधार पर कश्मीर मुद्दा हल नहीं हुआ, तब तक क्षेत्र (भारत-पाकिस्तान) की समस्या हल नहीं होगी।

हुसैन ने कहा कि पाकिस्तान एक शांतिप्रिय देश है और वह चाहता है कि उसकी विदेश नीति सभी देशों के साथ दोस्ती और भाईचारे पर आधारित हो। हम किसी भी देश के प्रति आक्रामक नीति नहीं अपनाना चाहते और राष्ट्रीय एवं विदेशी मामलों में ईमानदारी से शामिल होना चाहते हैं।

राष्ट्रपति ने कहा कि पाकिस्तान अपने सभी पड़ोसियों के साथ विवादित मुद्दों को बाचतीत के जरिए हल निकालकर शांति प्रिय संबंध चाहता है। उन्होंने भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह पाकिस्तान से बातचीत के मुद्दे पर 'भाग' रहा है। उन्होंने आगे कहा कि देश (पाकिस्तान) में लोकतंत्र मजबूत हुआ है। इसके चलते वह विभिन्न संकटों से निपट सकता है।