दूसरे धर्मों के पूजा स्थलों पर हमला और जबरन धर्मांतरण इस्लाम के खिलाफ- नवाज शरीफ

इस्लामाबाद (14 मार्च): पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने दूसरे धर्मों के पूजा स्थलों पर हमला और जबरन धर्मांतरण को इस्लाम में अपराध बताया है। होली पर आयोजित एक समारोह के हिस्सा लेते हुए नवाज शरीफ ने कहा कि जबरन धर्मांतरण और दूसरे धर्मों के पूजा स्थलों पर हमला करना इस्लाम में अपराध है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान किसी भी धर्म के खिलाफ नहीं है और यहां धर्म को लेकर कोई युद्ध भी नहीं है।

समारोह में शरीफ ने कहा, कौन स्वर्ग जाएगा और कौन नर्क यह किसी का काम नहीं है, लेकिन पाकिस्तान को स्वर्ग बनाना मुख्य काम है। पाकिस्तान में रह रहे अल्पसंख्यकों को दिए संदेश में शरीफ ने कहा कि कोई किसी दूसरे को एक खास धर्म अपनाने के लिए बाध्य नहीं कर सकता। इस्लाम में हर शख्स को धर्म, जाति या संप्रदाय का भेदभाव किए महत्व दिया गया है और मैं यह साफ तौर पर कहता हूं कि किसी का जबरन धर्म परिवर्तन कराना इस्लाम में अपराध है और यह हमारा फर्ज है कि पाकिस्तान में रह रहे अल्पसंख्यकों के धार्मिक स्थलों की सुरक्षा करें।

पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों पर लगातार हो रहे हमले और हिंदू महिलाओं के जबरन धर्मांतरण की लगातार हो रही घटनाओं के बीच प्रधानमंत्री मंत्री नवाज शरीफ के इस बयान को काफी अहम माना जा है। इस समारोह में हिंदू समुदाय के कई बड़े नेता और अल्पसंख्यक सांसद मौजूद थे।