UN में फिर कश्मीर को लेकर रोया पाकिस्तान

नई दिल्ली(22 सितंबर): पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने यूनाइटेड नेशन जनरल असेंबली में एक बार फिर कश्मीर राग अलापा है। पाक पीएम ने यूएन से कश्मीर में एक विशेष दूत तैनात करने की मांग की है। 

- पाक ने आरोप लगाया कि कश्मीर में लोगों के संघर्ष को भारत द्वारा कुचला जा रहा है। इसके अलावा अब्बासी ने भारत पर पाकिस्तान में आतंकी गतिविधियां चलाने का आरोप भी लगाया।

- कश्मीर मुद्दे पर बोलते हुए अब्बासी ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर के लोगों के संघर्ष को भारत कुचल रहा है।' यूएन में अपने भाषण के दौरान अब्बासी ने 17 बार कश्मीर का जिक्र किया और 14 बार भारत का जिक्र किया। 

- अब्बासी ने यह भी कहा कि पाकिस्तान बनने के पहले दिन से ही इसे अपने पड़ोसी से लगातार दुश्मनी का सामना करना पड़ रहा है। अब्बासी ने कहा, 'भारत संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों को लागू करने से इनकार करता है। जिसके मुताबिक जम्मू-कश्मीर के लोगों को जनमत संग्रह के जरिए अपने भाग्य का फैसला करने का अधिकार है। इसके बदले भारत ने कश्मीरियों के संघर्ष को कुचलने के लिए 7 लाख सैनिकों को कश्मीर में तैनात कर दिया है। '

- पाक पीएम ने कहा, 'कश्मीर मुद्दे को न्यायसंगत, शांतिपूर्ण और तेजी से निपटाना चाहिए। जबकि भारत पाकिस्तान से शांति वार्ता करने को तैयार नहीं है। ऐसे में यूएन को कश्मीर में एक विशेष दूत तैनात करना चाहिए।' अब्बासी ने भारत पर सीजफायर के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए कहा कि इस साल जनवरी से अब तक भारत ने 600 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है, लेकिन पाक ने हर बार संयम बरता है। पाक पीएम ने कहा, 'यदि भारत ने सीमा पर गोलीबारी बंद नहीं की तो पाकिस्तान को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ेगी।'

- कश्मीर में पैलेट गन के इस्तेमाल कर जिक्र करते हुए अब्बासी ने कहा, 'भारतीय सेना ने पैलेट गन का इस्तेमाल कर हजारों कश्मीरियों और उनके बच्चों को अंधा कर दिया है।' अब्बासी ने भारत पर जेनेवा कन्वेंशंस के नियमों का पालन न करने का भी आरोप लगाया। पाक पीएम ने कहा कि यूएन को कश्मीर में अत्याचार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए।