PAK मीडिया ने नवाज से कहा, जावध को फांसी दी तो होंगे गंभीर परिणाम

इस्लामाबाद (11 अप्रैल): भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी सेना द्वारा मौत की सजा सुनाए जाने से पूरे हिंदुस्तान में रोष है और हर कोई पाकिस्तान की इस हरकत के लिए उसे सबक सिखाने की मांग कर रहा है। सरकार ने भी पाकिस्तान से साफ कह दिया है कि अगर कुलभूषण जाधव को फांसी दी गई तो हिंदुस्तान इसे सुनियोजित हत्या मानेगा। विदेश मंत्री सुषमा स्वाराज ने संसद में साफ कहा है कि जाधव को बचाने के लिए भारत किसी भी हद तक जा सकता है।


जाधव की मौत की सजा पर भारत में उवाल से पाक मीडिया भी बखूबी वाकिफ है। पाकिस्तान में मीडिया क्या सरकार तक में सेना का खौफ है। कोई भी सैना के किसी फैसले के खिलाफ बोलने की हिमाकत नहीं कर सकता है। फिर भी पाकिस्तानी मीडिया कुलभूषण जाधव को सेना की ओर से फांसी की सजा सुनाए जाने की तरीके पर चर्चा कर रहा है। पाकिस्तान के कई बड़े अखबार और न्यूज चैनल ने पाक सेना को कुलभूषण जाधव के खिलाफ जुटाए गए सबूत को सार्वजनिक करने की सलाह दी है।

पाकिस्तान का मीडिया के अगर जाधव को फांसी दी जाती है तो इसके गंभीर दुष्परिणाम होंगे। इससे भारत के साथ संबंधों में तनाव बढ़ेगा और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी इसे लेकर काफी प्रतिक्रिया देखने को मिल सकती है।


पाक अखबार 'द नेशन' के राजनीतिक और रक्षा विशेषज्ञ डॉ. हसन अस्करी के लिखा है कि जाधव को फांसी देने का फैसला 'दोनों देशों के बीच तनाव में और इजाफा करेगा।' अस्करी ने कहा, 'सेना ने सख्त सजा दी है जो पाकिस्तानी कानून के मुताबिक है, लेकिन हमें यह देखना होगा कि पाकिस्तान इसके राजनीतिक और कूटनीतिक दुष्प्रभावों को झेल सकता है या नहीं।' आपको बता दें कि 'द नेशन' को भारत के मुखर आलोचक के तौर पर जाना जाता है।