कुलभूषण पर एक झूठ को छुपाने के लिए 100 झूठ बोल रहा है पाकिस्तान

इस्लामाबाद (14 अप्रैल): भारतीय नेवी के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले पर पाकिस्तान एक झूठ को छुपाने के लिए 100 झूठ बोलने पर मजबूर है लेकिन फिर भी वो अपने इस नापाक मंसूबे में कामयाब नहीं हो पा रहा है। भारतीय नागरिक जाधव को पहले अगवा करने और फिर पाक सेना की ओर से फांसी की सजा सुनाए जाने के बाद दुनिया भर में हो रही किरकिर से बचने के लिए एकबार फिर पाकिस्तान ने झूठ बोला है। इसबार ये झूठ किसी और ने नहीं बल्कि पाकिस्तान सरकार के सुरक्षा सलाहकार सरताज अजीज ने बोला है। 


सरताज अजीज वहीं शख्स है जो पहले कह चुके हैं कि कुलभषण जाधव के खिलाफ पाक सेना और सरकार के पास कोई सबूत नहीं है। लेकिन अब लगता है कि नवाज सरकार के साथ-साथ सरताज अजीज ने भी पाक सेना की शैतानी हरकत के सामने घुटने टेक दिया है।

अपने पहले के बयान से पटलते हुए पीएम नवाज के सुरक्षा सलाहकार सरताज अजीज ने बड़ा बयान दिया है। सरताज ने अपनी सेना की कारगुजारी पर पर्दा डाटलने की कोशिश करते हुए कुलभूषण जाधव को भारत का जासूस करार दिया है। 


सरताज अजीज ने कहा, 'कुलभूषण जाधव जासूस ही है। यह साबित हो चुका है। अजीज ने कहा कि जाधव कारोबारी नहीं जासूस है। उसके पास दो पासपोर्ट मिले हैं। इसमें एक मुसलमान नाम से जबकि दूसरा हिंदू के नाम पर है। अजीज का कहना है कि जाधव को कानून के मुताबिक फांसी की सजा दी गई है। साथ ही उन्होंने बताया कि वह चाहे तो 40 दिन में मिलिट्री कोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील कर सकता है।