'ढाका आतंकी हमले में पाकिस्तानी खुफिया एजेंंसी ISI का हाथ'

नई दिल्ली (3 जुलाई): बांग्लादेश की राजधानी ढाका होली ऑस्टिन  मेंरेस्टोरेंट में आतंकी हमले में जांच की सुई पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और जमात-ए-इस्लामी-बांग्लादेश के गठजोड़ की ओर घूम रही है।   प्रधानमंत्री शेख हसीना के राजनीतिक सहालकार एचटी इमाम ने कहा है कि सभी आतंकी बांग्लादेश के ही थे और जांच पाकिस्तान की आईएसआई और आतंकी संगठन जमाल पर ही केंद्रित है।

उन्होंने बताया कि एक इस हमले में गिरफ्तार आंतकी जांच में अहम साबित होगा। इमाम ने बताया कि आतंकियों ने इलाके की पूरी रेकी की थी और आतंकी हमले को अंजाम दिया। यह हमला बांग्लादेश के ही भीतर पनते आतंकी संगठन के समर्थकों ने किया है। उन्होंने बताया कि पाकिस्तान की आईएसआई और जमात के बीच रिश्ते जगजाहिर हैं क्योंकि वे सरकार को अस्थिर करना चाहते हैं। आतंकियों ने अपने हत्या करने के बाद उनकी फोटो ली और अपलोड कर दी। आईएस ने इसी का सहारा लेकर दावा कर दिया और हमले की जिम्मेदारी ले ली।

इमाम ने  कहा कि लोग बांग्लादेश का विकास देखना चाहते हैं और बांग्लादेश की सुरक्षा एजेंसियां पूरी तरह मुस्तैद हैं। उन्होंने कहा कि इस हमले में अगली कार्रवाई वार क्राइम ट्रिब्युनल देखेगा।  उन्होंने बांग्लादेश की सरकार की ओर से कहा कि यह हमला स्थानीय आतंकी समूह द्वारा किया गया था न कि आईएस या अलकायदा ने हमले को अंजाम दिया। उन्होंने अपनी बात को दोहराया कि इस हमले में आईएआई और जमात का ही हाथ है। इंटरनेट पर हमले के फोटो हमले की जांच दिशा मोड़ने के लिए अपलोड किये गये हैं।