'प्रोटेक्टिव कस्टडी में है जैश-ए-मोहम्मद चीफ आतंकी मसूद'

इस्लामाबाद (22 फरवरी): पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज ने यह माना है कि जैश-ए-मोहम्मद चीफ अजहर मसूद को पठानकोट हमले के मामले में डिटेन किया गया था। इस बारे में पाकिस्तान में बनी एसआईटी जल्द भारत आकर जांच करेगी।

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के गुजरांवाला में काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) ने अज्ञात लोगों के खिलाफ गुरुवार को एफआईआर दर्ज की। लेकिन इसमें अजहर का नाम नहीं है।

इंटरनेशनल प्रेशर के चलते पाकिस्तान सरकार ने एक कमेटी बनाई थी। इसे भारत द्वारा सौंपे गए सबूतों और आरोपों की जांच करनी थी। हमले के बाद इस टीम ने सिफारिश में कहा था कि जैश-ए-मोहम्मद के चीफ और हमले के मास्टरमाइंड अजहर पर भी एफआईआर होनी चाहिए।

सरताज ने कहा कि पठानकोट हमले के दौरान प्रयोग किए गए सिम कार्ड में से एक अभी भी एक्टिव है। इसके नंबर के लोकेशन्स जैश-ए-मोहम्मद के हेडक्वार्टर के हैं।