'7वें वेतन आयोग' का हवाला देकर भारतीय अधिकारियों का डेटा चुरा रहा है पाक का ग्रुप

नई दिल्ली (3 जून): पाकिस्तान का एक समूह फ़र्जी न्यूज वेबसाइट के जरिए सातवें वेतन आयोग का लालच देकर भारत सरकार के अधिकारियों से जुड़ी सूचनाएं चुरा रहा है। इस समूह ने अधिकारियों को सातवें वेतन आयोग का हवाला देकर कई फर्जी ई-मेल भेजे हैं। गौरतलब है, 30 जून से सातवां वेतन आयोग लागू होना है।

रिपोर्ट के मुताबिक, इस हरकत के लिए साइबर सिक्योरिटी फर्म फायरआई ने दावा किया है। यह फर्जी न्यूज वेबसाइट 18 मई 2016 को पाकिस्तान में रजिस्टर्ड कराई गई है। फायरआई का दावा है कि भारत सरकार के अधिकारियों को ईमेल भेजे जा रहे हैं। इन ई-मेल में एक खतरनाक माइक्रोसॉफ्ट वर्ड फाइल अटैच होती है। मेल के जरिए ऑफिसर्स से इस फाइल को खोलने के लिए कहा जाता है।

सिक्योरिटी फर्म का दावा है कि जैसे ही इस फाइल को क्लिक किया जाता है, कम्प्यूटर पर कई तरह के प्रोग्राम चलने लगते हैं। इस फाइल के जरिए ही कम्प्यूटर से डाटा अपलोड कर लिया जाता है।

इससे पहले Kaspersky ने ऐसा दावा किया था कि भारत सरकार की वेबसाइट्स की साइबर जासूसी की जा रही है। फायरआई ने इस खुलासे को लेकर एक ब्लॉग भी पोस्ट किया है। फायरआई ने पहले भी ऐसे ही एक ग्रुप के बारे में खुलासा किया था। जिसने 2013 में पाकिस्तानी असंतुष्टों और मार्च 2016 में इंडियन टारगेट्स पर साइबर अटैक किया था।