भारत को बर्बाद करने के लिए पाक ने छेड़ा यह नया जिहाद

विशाल, चंडीगढ़ (22 जून): भारत के खिलाफ पाकिस्तान की नई साज़िश सामने आई है। पिछले दिनों पंजाब में पकड़े गए एक पाकिस्तानी तस्कर से पूछताछ में ये खुलासा हुआ है। पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI अब तक जिहाद के नाम पर आतंकवादी और नकली नोट भारत भेजा करती थी, लेकिन अब उसका फोकस ड्रग्स पर बढ़ रहा है। पुलिस के मुताबिक पाकिस्तान ने सबसे पहले पंजाब से लगी सीमा को टारगेट किया है। पैसे का लालच और जिहाद का हवाला देकर ISI युवाओं का पंजाब भेज रहा है। इसके बाद राजस्थान, गुजरात और जम्मू-कश्मीर में भी ड्रग्स का जाल फैलाने की साजिश है।

रमज़ान के पाक महीने में रमज़ान नाम का शख्‍स पंजाब में ड्रग्स लेकर घुसा, लेकिन पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है। रमज़ान से जब पूछताछ हुई तो उसने कई खुलासे किए। रमज़ान के ज़रिए ही पता चला की पाकिस्तान ने अब पंजाब में नई साज़िश का प्लान तैयार किया है। इस नापाक साज़िश के तहत यहां के युवाओं को गुमराह करने के लिए ड्रग्स जिहादी भेज रहा है पाकिस्तान। पंजाब के युवाओं को फंसाने के लिए ड्रग्स का सहारा ले रहे है। फाजिल्का से गिरफ्तार कए गए रमजान ने बताया कि पाकिस्तान में बैठे आतंकी युवाओं को ड्रग्स के कारोबार को जिहाद का नाम देकर उन्हें ड्रग्स स्मगलर बना रहे हैं और उन्हें बॉर्डर के रास्ते घुसपैठ करा रहे हैं।

दरअसल पंजाब में ड्रग्स तस्करी और ड्रग्स का इस्तेमाल काफी ज़ोरों से हो रहा है। पाकिस्तान इसी का फायदा उठाकर ड्रग्स को अपना हथियार बना रहा है। दरअसल 17 जून को भारत में दाखिल होने की कोशिश कर रहे तीन ड्रग्स तस्करों को बीएसएफ ने भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा से पकड़ने की कोशिश की थी। इस दौरान हुई गोलीबारी में शौकत व सुलेमान नाम को दो पाक ड्रग तस्कर मारे गए थे और रमजान नाम के इस ड्रग तस्कर को बीएसएफ ने गिरफ्तार करके पंजाब पुलिस को सौंप दिया था। पंजाब  पुलिस की पूछताछ में ही इस पाक ड्रग्स तस्कर रमजान ने ये खुलासा किया है कि किस तरह से जिहाद के नाम पर पाकिस्तान में ड्रग तस्कर तैयार किये जा रहे है।

रमज़ान के मुताबिक कई दर्जन ड्रग्स तस्कर पाकिस्तान में बैठे हैं, जो पंजाब में घुसने की फिराक में हैं। हम आपको बता दें कि रमजान पहला ऐसा ड्रग तस्कर है जिसे पकड़ा जा सका है। अब रमजान ही पाकिस्तान की इस ड्रग जिहाद की साजिश का खुलासा करने में लगा है, जिससे एक बार फिर पाकिस्तान की साज़िश बेनकाब हो गई है। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक पाठानकोट हमले के बाद जब सीमा पर सुरक्षा और कड़ी की गई तो पाकिस्तान ने हिंदुस्तान की फिज़ा में ज़हर घोलने का दूसरा रास्ता अपनाया, वो रास्ता है ड्रग्स जिहाद का।