पाक आतंकियों का स्वर्ग, इमरान ने नहीं की हमले की निंदा: भारत

Photo: Google


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 फरवरी):
पुलवामा हमले के संबंध में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की तरफ से आए बयान के बाद भारत ने सिलसिलेवार जवाब दिया है। भारत की तरफ से बयान में कहा गया है कि पाकिस्तान ने तो हमले की निंदा करना भी सही नहीं समझा। वहीं पाक पीएम ने तो जैश-ए-मोहम्मद के दावों को भी नजरअंदाज कर दिया।

भारत ने कहा कि पाक पीएम ने न तो इस कायरता पूर्ण हमले की निंदा की और न ही हमले में मारे गए जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की। बयान में कहा गया है, 'जहां तक पाकिस्तान के खुद आतंक से सबसे ज्यादा पीड़ित होने की बात है तो यह बात सच्चाई से बिल्कुल परे है। अंतरराष्ट्रीय समुदाय भी इस बात को जानता है कि पाकिस्तान असल में आतंकवाद का केंद्र है।' विदेश मंत्रालय ने इमरान खान को याद दिलाते हुए कहा कि जिस हाफिज सईद को यूएन ने भी आतंकी घोषित किया हुआ है, उसके साथ पाकिस्तान सरकार के मंत्री मंच साझा करते हैं और वह नए पाकिस्तान की बात करते हैं। भारत ने यह भी साफ कर दिया कि जब तक पाकिस्तान से आतंकवाद पनपता रहेगा तब तक उससे किसी तर‍ह की कोई बात नहीं हो सकती।

अपने बयान में इमरान ने यह भी कहा कि भारत में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, जिस लिए इस तरह का माहौल बनाया जा रहा है। इसपर भारत ने उनको करारा जवाब देते हुए कहा कि इमरान को शर्म आनी चाहिए, वह इस तरह के बयान कैसे दे सकते हैं। भारत का लोकतंत्र दुनिया के लिए एक मिसाल है और पाकिस्तान को यह नहीं भूलना चाहिए। पाकिस्तान इस तरह की बात करके दुनिया को भटकाने की कोशिश ना करे, बल्कि वह उन आतंकियों के खिलाफ कड़ा कदम उठाए जो उनके देश में पल रहे हैं।

आपको बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने मंगलवार को पुलवामा हमले में पाक के हाथ को साफ तौर पर खारिज किया। इमरान ने कहा कि भारत ने बिना किसी सबूत के इस्लामाबाद पर आरोप लगाया है।