इंडो-यूएस डिफेंंस डील से पाक बैचेन, चीन से समझौते को दी मंजूरी

नई दिल्ली (5 सितंबर): भारत-अमेरिका के बीच बढ़ते रक्षा संबंधों से बेचैन पाकिस्तान की कैबिनेट ने चीन के साथ दीर्घकालिक रक्षा समझौते और सुरक्षा सहयोग पर वार्ता को मंजूरी दे दी है। पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक 15 जुलाई को लाहौर के गवर्नर हाउस में प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अध्यक्षता में पाकिस्तान के मंत्रिमंडल ने चीन के साथ दीर्घकालिक रक्षा समझौते पर वार्ता करने को मंजूरी दी।

चीन के साथ पाकिस्तान की ओर से डिफेंस अग्रीमेंट पर आगे बढ़ने की यह खबर अमेरिका और भारत के बीच लॉजिस्टिक्स अग्रीमेंट के बाद आई है। भारत-अमेरिका के बीच हुए करार में एक-दूसरे के नेवी और एयर बेस को रिपेयर और री-सप्लाइ के लिए इस्तेमाल करने को लेकर करार हुआ था। इस समझौते को पाकिस्तान ने  दो संप्रभु देशों के बीच करार बताया था। बीते साल अप्रैल में चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के पाकिस्तान दौरे के वक्त दोनों देशों के बीच बदलती अंतरराष्ट्रीय एवं राजनीतिक परिस्थितियों के मद्देनजर रणनीतिक संबंधों को मजबूत करने को लेकर सहमति बनी थी।