उरी हमलाः एक और बड़ा खुलासा, पाक सेना के अफसरों ने दी थी ट्रेनिंग

नई दिल्ली (29 सितंबर): उरी हमले के बाद पकड़े गये आतंकियों ने खुलासा किया है कि सेन के शिविर पर हमला करने से पहले पाकिस्तान आर्मी की आईटी विंग के अफसरों ने चारों आतंकियों को स्पेशल ट्रेनिंग दी थी। पाक आर्मी के अफसरों ने रेडियो सेट और जीपीएस इस्तेमाल करने और डाट डिलीट करने की ट्रेनिंग दी थी। सेना और बीएसएफ के संयुक्त अभियान में पकड़े गए दोनों आतंकियों को दिल्ली लाया जायेगा।

संभवतः इनका लाई डिटेक्टर टेस्ट भी करवाया जा सकता है।  अब तक हुई पूछताछ में दोनों आतंकी फैज़ल हुसैन अवान और एहशान खुर्शीद ने पाकिस्तानी सेना की पोल पूरी तरह खोल दी है। इनके मुताबिक उरी हमले में सुरक्षा बलों के हाथों मारे गए चारों आतंकियों को पाक सेना और आईएसआई के बड़े अधिकारियों से प्रशिक्षण मिला था।

उरी हमले में शामिल आतंकियों को आईएसआई की मदद से चलाए जा रहे कैम्पों में पाकिस्तानी सेना के तकनीकी विशेषज्ञों ने जापानी आईकॉम रेडियो सेट और जीपीएस आदि की ट्रेनिंग दी थी। उरी में सेना के कैम्प पर हमला करने वाले आतंकवादियों के फोटो दिखाए जाने पर इन दोनों ने उनकी पहचान भी की है।