राहिल शरीफ को लगा सर्जिकल स्ट्राइक से सबसे बड़ा डेंट

नई दिल्ली (30 सितंबर): पाकिस्तान में नवाज शरीफ ने कैबिनेट की बैठक बुलाई, जिसमें नवाज शरीफ ने उरी में हुए आतंकी हमले में पाकिस्तानी हाथ होने के आरोपों को भी नकार दिया। उन्होंने कहा कि भारत ने रिश्ते खराब करने की कोशिश की है। हिंदुस्तान के सर्जिकल स्ट्राइक से सबसे बड़ा डेंट जनरल राहिल शरीफ को लगा है जो नवंबर में रिटायर होने वाले हैं। आशंका जताई जा रही है कि जनरल राहिल शरीफ बेइज्जती के साथ रिटायर नहीं होंगे, मतलब कुछ न कुछ करेंगे।

जम्मू-कश्मीर के उरी में आर्मी कैंप पर आतंकी हमले के 11 वें दिन भारतीय फौज ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में घुसकर 7 आतंकी कैंप तहस-नहस कर दिए और पाकिस्तान की फौज देखती रह गयी। जनरल राहिल शरीफ की फौज को हवा ही नहीं लगी कि कब भारतीय कमांडो PoK में घुसे और आतंकियों का काम तमाम कर वापस लौट गए।

भले ही पाकिस्तान दुनिया के सामने कबूल न कर रहा हो कि भारतीय फौज ने PoK में सर्जिकल स्ट्राइक किया। लेकिन इसका सबसे ज्यादा दर्द राहिल शरीफ को होगा। उन्हें अपनी फौज पर बहुत गर्व है। जिस फौज पर राहिल शरीफ को इतना गर्व है उससे वो 30 नवंबर को रिटायर होने वाले हैं। लेकिन उससे पहले ही उनकी वर्दी पर बड़ा दाग लग गया।

पहला: पाकिस्तानी फौज देखती रही, भारतीय कमांडो ऑपरेशन कर वापस लौट गए। दूसरा: जनरल राहिल शरीफ के मिलिट्री करियर पर सबसे बड़ा दाग। तीसरा: पाकिस्तानी फौज का हिंदुस्तान से मुकाबले का घमंड चूर हो गया। चौथा: सर्जिकल ऑपरेशन के बाद पाकिस्तानी फौज का मनोबल टूटा। पांचवां: जनरल राहिल शरीफ की पाकिस्तान में छवि खराब हुई।

जानकारों का मानना है कि राहिल शरीफ किसी कीमत पर बेइज्जती के साथ आर्मी से रिटायर नहीं होंगे। वो अपनी फौज का मनोबल बढ़ाने और अपनी वर्दी पर लगे दाग को धोने के लिए कुछ-न-कुछ करेंगे। लेकिन उनके पास विकल्प बहुत सीमित हैं।

पहला: पाकिस्तानी फौज सीमा पर गोलीबारी तेज कर सकती है। दूसरा: राहिल शरीफ छवि दुरुस्त करने के लिए LoC पर फौज की तैनाती बढ़ा सकते हैं। तीसरा: बॉर्डर पर तवान की स्थिति में वो आर्मी चीफ पद छोड़ने से मना कर सकते हैं। चौथा: तख्तापलट कर नवाज शरीफ से सभी शक्तियां अपने हाथ में ले सकते हैं। पांचवां: पाकिस्तान LoC पर पूरी प्लानिंग के साथ हमला कर सकता है।

PoK में सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से ही पाकिस्तानी जमीन पर पलने वाले आतंकियों की नींद उड़ी हुई है। अब लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी डर गए हैं कि कहीं फिर भारतीय कमांडो PoK में घुस तक उनका काम तमाम न कर दें। दूसरी ओर, पाकिस्तान में जनरल राहिल शरीफ का कद नवाज शरीफ से बहुत ऊंचा उठ गया था। उनके समर्थन में बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगते थे।

राहिल शरीफ के परिवार में दो लोगों को पाकिस्तान का सर्वोच्च वीरता सम्मान निशान-ए-हैदर मिल चुका है। लेकिन PoK में भारतीय फौज के सर्जिकल ऑपरेशन के बाद पाकिस्तानी आर्मी चीफ पर सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में राहिल शरीफ अपनी इमेज दुरुस्त करने के लिए बौखलाहट में कुछ ऐसा बड़ा फैसला कर सकते हैं जिसकी सबसे ज्यादा कीमत पाकिस्तान को चुकानी पड़ सकती है।