'पद्मावत' पर नहीं थम रहा विरोध, राजस्थान और MP सरकार की SC में याचिका

नई दिल्ली(22 जनवरी): फिल्म पद्नमावत पर एमपी और राजस्थान सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंची है। दोनों राज्यों ने फिल्म पर बैन लगाने की मांग को लेकर याचिका दी है जिसमें कहा गया है कि फिल्म रिलीज से राज्यों में शांति व्य़वस्था बिगड़ेगी, मामले पर कल होगी सुनवाई। 

- बता दें इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने पद्मावत की रिलीज़ को हरी झंडी दे दी थी। 

- फिल्म पद्मावत को लेकर देश में चल रहा विरोध थम नहीं रहा है। लखनऊ से अमहदाबाद तक...गुरुग्राम से मुंबई तक करणी सेना के गुंडों की तोड़फोड़ जारी है। फिल्म का विरोध करने वाले फिल्म को प्रदर्शित नहीं होने देने की धमकियां दे रहे हैं। 

- वहीं पद्मावत के विरोध में अब VHP भी सड़कों पर उतरेगी।  प्रवीण तोगड़िया कुछ ही देर में जयपुर एयरपोर्ट से दिल्ली पहुंचेंगे। उन्होंने कहा है कि फिल्म पद्मावत के रिलीज के विरोध में अब VHP भी सड़कों पर उतरेगी।

- इस बीच फिल्म पद्मावत के विरोध में राजपूत करणी सेना की एक चिट्ठी सामने आई है। जिसमें कहा गया है कि अगर सरकार ने फिल्म पर बैन नहीं लगाया तो पूरे देश में चक्का जाम किया जाएगा। पूरे देश में ट्रेनों को रोका जाएगा। राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेवसिंह गोगामेड़ी की लिखी चिट्ठी में कहा गया है कि श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के सभी जिलाध्यक्षो को सूचित किया जाता है कि आज दिनांक 22/01/2018 को  सूबह 11 बजे आप सभी राजपूत और  हिन्दू संगठनो को साथ लेकर फिल्म पद्मावत के विरोध में  अपने अपने जिले में  चक्का जाम कर। यदि आज के शांतिपूर्ण तरीके से किये गये चक्का जाम से सरकार ने फिल्म पद्मावत पर बैन नहीं लगाया तो तो कल दिनांक 23/01/2018 को पूरे देश में ट्रेनों को रोका जाएगा। चिट्ठी के नीचे नाम लिखा हुआ है...सुखदेवसिंह गोगामेड़ी,  राष्ट्रीय अध्यक्ष और योगेन्द्रसिंह कटार, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष।