कांग्रेस का मोदी पर वार, पहले भी हुई सर्जिकल स्ट्राइक पर नहीं किया गुणगान

नई दिल्ली (3 सितंबर): भारतीय सेना द्वारा पीओके में जाकर सर्जिकल स्ट्राइक करके कई आंतकियों को मार गिराने के लिए मोदी सरकार की काफी तारीफ हो रही है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार पर सर्जिकल स्ट्राइक का “प्रचार” करके सियासी लाभ लेने की कोशिश करने का आरोप लगाया है।

पूर्व गृह मंत्री पी चिंदबरम और कांग्रेसी नेता संदीप दीक्षित ने सार्वजनिक तौर पर कहा है कि भारत पहले भी ऐसी सर्जिकल स्ट्राइक करता रहा है, लेकिन कूटनीतिक चिंताओं के चलते इसका “प्रचार” नहीं किया जाता था। पी चिंदबरम ने एक अखबार को दिए इंटरव्यू में कहा कि भारत ने 2013 में एक बहुत बड़ी सर्जिकल स्ट्राइक की थी। तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने रणनीतिक गतिरोधों को ध्यान में रखते हुए इसकी जानकारी सार्वजनिक नहीं करने का फैसला किया था।

कांग्रेसी नेता संदीप दीक्षित ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और उनके पूर्व मंत्रियों को लिखे एक खुले पत्र में भी ऐसे ही सवाल उठाए हैं। दीक्षित ने अपने पत्र में संकेत किया है कि कांग्रेस सरकार के 10 साल के शासन में भारत ने कई सर्जिकल स्ट्राइक की, लेकिन उन्होंने उनका ऐसा प्रचार नहीं किया है। दीक्षित ने लिखा है, “आपके प्रधानमंत्री काल में भी कई मौकों पर ऐसी कार्रवाई की बातें मैंने सुनी थीं। 2007, 2009, मुंबई हमले के बाद, 2011 में, जनवरी 2013 और 2014 की शुरुआत में और कई बार।”

वहीं कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि 2008, 2009, 2011 और 2013 में सर्जिकल स्ट्राइक हुई, लेकिन सेना पर छोड़ा गया था कि वो कितनी मदद चाहती थी।