मानसरोवर यात्रा: पिछले साल के मुकावले डेढ़ गुना ज्यादा आवेदन, ये है कारण...!

नई दिल्ली (8 अप्रैल): विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए 4,000 आवेदन आए हैं, जो पिछले साल की तुलना में 1,400 अधिक हैं। आवेदनों की संख्या बढ़ने के कारण इस साल नाथुला दर्रे से तीर्थयात्रियों के एक अतिरिक्त जत्थे को भेजा जाएगा और यात्रा के लिए 49 और सीटें बची हुई हैं। सुषमा स्वराज ने कहा, “बुजुर्ग तीर्थयात्रियों की यात्रा में सहूलियत प्रदान करने के लिए एक ही जत्थे में परिवार के दो सदस्यों की जगह अब चार सदस्यों को यात्रा करने की मंजूरी होगी। 


तीर्थयात्रियों का चयन कंप्यूटरीकृत ड्रॉ से करने लिए एक कार्यक्रम के दौरान मंत्री ने ये बातें कहीं। मंत्री ने कहा, “हमें नहीं लगता कि इस साल कोई सीट बची रह जाएगी। इससे पहले, सीटें खाली रह जाती थीं। तीर्थयात्रियों को मिलने वाली सहायता 50,000 रुपये से बढ़ाकर 1,00,000 रुपये करने के लिए मंत्री ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का विशेष शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा, “सहायता बढ़ने की वजह से उत्तर प्रदेश के आवेदकों की संख्या में इजाफा हुआ। कैलाश मानसरोवर यात्रा का आयोजन चीन सरकार के सहयोग से विदेश मंत्रालय करता है।