गर्मी का प्रकोप : देश में 160 से ज्यादा लोगों की मौत

नई दिल्ली (21 अप्रैल): पिछले हफ्तों से लगातार बढ़ती गर्मी और लू चलने से जुड़ी घटनाओं में देश के दक्षिणी और पूर्वी हिस्सों में 160 से भी ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। अधिकारियों ने सावधान करते हुए कहा है कि अभी भी राहत के लिए मानसून की बारिश आने में कई हफ्ते बाकी है। 

'इंडिया टुडे' की रिपोर्ट के मुताबिक लू से मरने वालों में ज्यादातर लोग मजदूर या फिर किसान हैं। जो तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और उड़ीसा के हैं। हालांकि, देश के बाकी हिस्सों में भी तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच रहा है।

उड़ीसा में पिछले हफ्ते स्कूलों को 26 अप्रैल तक के लिए बंद कर दिया गया। आंध्र प्रदेश के अधिकारी, लोगों में हाइड्रेशन की पूर्ति के लिए मुफ्त में पानी और छाछ बांट रहे हैं। इसके अलावा लोगों से सबसे ज्यादा गर्म घंटों में घरों के भीतर रहने के लिए अपील की गई है।

राज्य के मौसम अधिकारी वाईके रेड्डी ने बताया कि अप्रैल में तापमान साधारण से 4-5 डिग्री सेल्सियस ज्यादा रहा है। "साधारण तौर पर इतना तापमान मई महीने में रिकॉर्ड किया जाता है।"

पुलिस ने उड़ीसा में 55 मौतों की जानकारी दी है। इसके अलावा आंध्र प्रदेश में करीब 45 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा तेलंगाना में 66 मौतें हुई हैं। हालांकि, तेलंगाना के उपमुख्यमंत्री मोहम्मद महमूद अली का कहना है कि मौतों के कारणों की अभी पुष्टि की जानी है। देश में पानी की कमी और सूखे के कारण 30 करोड़ से भी ज्यादा लोग प्रभावित हो रहे हैं।