अमृतसर हादसे के लिए ट्रैक पर खड़े लोग जिम्मेदार: जांच रिपोर्ट

कुन्दन सिंह, नई दिल्ली (22 नवंबर):  पंजाब के अमृतसर में हुआ रेल हादसा लोगो की लापरवाही से रेल पटरी पर आ जाने की वजह से हुई थी। इसमें रेलवे की कोई गलती नहीं थी। इस हादसे की जाँच कर रही कमिश्नर रेल सेफ्टी की रिपोर्ट यही कहती है। न्यूज़24 के पास उस रिपोर्ट की कॉपी मौजूद है जिसमें साफ कहा गया है।कि उस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे की वजह जिसमें 60 लोग मारे गए थे लोगो के रेल पटरी पर अचानक आ जाने की वजह से हुई थी। कमिश्नर रेलवे सेफ्टी एविएशन मिनिस्ट्री के अंदर आने वाली एक इंडिपेंडेंट संस्था है। जिस पर रेलवे का कोई नियत्रंण नहीं होता है। सीआरएस रेलवे में सेफ्टी और सिक्युरिटी के लिए मानक तय करता है साथ कि दुर्घटना की जाँच और समय समय पर सुझाव की देती है। 



अमृतसर रेल हादसे में रेलवे को क्लीनचिट देने के बाद कुछ सुझाव जरूर दिए गए है।।जिनमें ऐसे कार्यक्रम करने के पहले रेलवे को इसकी पूर्व सूचना देने जिससे समय रहते रेलवे सावधानी बरतें साथ ही ट्रेनों की गति नियंत्रित कर के चलाये। जीआरपी और स्थानीय प्रशासन इस मामले में बेहतर कोआर्डिनेशन कर लोगो को पहले से हटा दे। या फिर पटरी के आस पास भीड़ न इकट्ठा होने दे।


स्थानीय प्रशासन को लोगो को जागरूक किया जाए कि रेल पटरी के आस पास भीड़ इकठ्ठा न होने दे। साथ ही किसी भी हालत में ट्रेसपास न करे। रेलवे ऐसे हालात में ट्रेनों के संचालन सावधानी से करे। गौरतलब है कि 19 अक्टूबर को शाम 7 बजे के करीब अमृतसर में दशहरे मैदान के पास हुए रेल हादसे में करीब 60 से ज्यादा लोगो की मौत पर जमकर हंगामा हुआ था। जहाँ रेलवे अपने आप को पाक साफ बता रहा था तो वही स्थानीय लोग सारा दोष रेलवे की मान रहे थे। पर कमिश्नर रेल सेफ्टी की रिपोर्ट रेलवे के फेवर में आने के बाद भारतीय रेलवे एक बार फिर अपने दावे को पुरजोर तरीके से रखेगा।