पिता की मौत का बदला लेना चाहता है ओसामा बिन लादेन का बेटा हम्जा

नई दिल्ली (13 मई): ओसामा बिन लादेन का बेटा हम्जा और अलकायदा का नेतृत्व करने के लिए और अपने पिता की मौत का 'बदला लेने के लिए तैयार है। यह बातें एफबीआई के एक पूर्व एजेंट ने कहीं। पाकिस्तान के ऐबटाबाद में अमेरिका की छापेमारी में कुछ व्यक्तिगत खत मिले थे जिनके बारे में एजेंट अली सूफान यह जानकारी दे रहे थे। गौरतलब है कि 2 मई 2011 को अमेरिकी सेना के अभियान में ओसामा बिन लादेन मारा गया था।


हम्जा इस वक्त करीब 28 साल का है। उसने 22 साल की उम्र में चिट्ठी लिखी थी। उसने यह चिट्ठी तब लिखी थी जब उसने कई सालों से अपने पिता को नहीं देखा था। अमेरिका पर 9/11 हमले के बाद अलकायदा मामलों के एफबीआई के मुख्य जांचकर्ता सूफान ने सीबीएस न्यूज से कहा कि चिट्ठी से पता चलता है कि हम्जा ऐसा युवक है जो अपने पिता से काफी प्रेरित है और उसकी खतरनाक विचारधारा को अपनाना चाहता है।


यूएस नेवी सील्स द्वारा जब्त की गई चिट्ठी को सार्वजनिक किया गया है। सूफान ने सीबीएस के '60 मिनट्स' कार्यक्रम में कहा कि हम्जा ने एक चिट्ठी में लिखा है, 'मैं खुद को फौलाद से बना मानता हूं। अल्लाह की खातिर हम जिहाद के लिए जीते हैं।' इस साल जनवरी में अमेरिका ने हम्जा को एक 'विशिष्ट रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी' करार दिया। अमेरिका ने ओसामा के लिए भी ऐसा ही किया था। पिछले 2 सालों में हम्जा ने 4 ऑडियो मेसेज रिकार्ड किए हैं।


वह मूल रूप से इनमें कह रहा है, 'अमेरिकी लोग, हम आ रहे हैं और तुम्हें यह महसूस होगा। तुमने मेरे पिता के साथ जो किया, इराक अफगानिस्तान में जो किया, हम उसका बदला लेंगे।'