करुणानिधि के जन्मदिन के बहाने बीजेपी के ख़िलाफ़ विपक्ष एकजुट!


नई दिल्ली(3 जून): बीजेपी जहां दक्षिण में अपना कद बढाने के कवायद में जुटी है, वहीं तमाम विपक्षी दलों ने अपनी एकजुटता की हुंकार भरने की योजना बनार्इ है।


-  तमिलनाडु में डीएमके सुप्रीमो एम करुणानिधि के 94वें जन्मदिन और राजनीति में 60 साल पूरे होने पर शनिवार को तमाम विपक्षी दल के नेता चेन्नै में जुटने वाले हैं।


- दूसरी ओर आंध्र प्रदेश के गुंटूर में भी राज्य के लिए स्पेशल पैकेज की मांग के लिए दबाव बनाने के बहाने विपक्षी दल अपनी एकजुटता का शक्ति प्रदर्शन करेंगे।


- उल्लेखनीय है कि शनिवार को करुणानिधि के बहाने कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी दल तमिलनाडु पहुंच रहे हैं। इस कार्यक्रम में पहुंचने वाले प्रमुख नेताओं में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, जेडीयू नेता और बिहार के सीएम नीतीश कुमार, एनसीपी चीफ शरद पवार, नैशनल कॉन्फ्रेंस के दिग्गज चेहरे फारूक अब्दुल्ला, सीपीएम के सीताराम येचुरी, सीपीआई के डी राजा, टीएमसी से डेरेक ओ ब्रायन, पॉन्डिचेरी के सीएम वी नारायणसामी, आईयूएमएल के के एम कादिर मोहिदीन हैं।


- डीएमके की तरफ से करुणानिधि के बेटे और डीएमके कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन इस आयोजन का जिम्मा संभाल रहे हैं।


- दूसरी ओर कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश पैकेज के बहाने विपक्ष को फिर से एकजुट करने की योजना बनाई है। इतना ही नहीं, कांग्रेस ने तमाम दल को संदेश दिया कि करुणानिधि के आयोजन के बाद ही अगले दिन आंध्र प्रदेश में विपक्ष का जमावड़ा हो। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस की ओर आयोजित इस रैली में लगभग 12 विपक्षी दलों के पहुंचने की बात की जा रही है।


- जानकारी के अनुसार, यहां जेडीयू से शरद यादव, सीपीएम से सीताराम येचुरी, एसपी से अखिलेश यादव, रामगापेाल यादव, सीपीआई से डी राजा व सुधाकर रेड्डी, डीएमके से इलंगोवन पहुंच रहे हैं। इनके अलावा, आरजेडी प्रमुख लालू यादव के आने की बात भी कही जा रही थी लेकिन स्वास्थ्य कारणों से वह इस कार्यक्रम में नहीं पहुंच पाएंगे। वहीं एनसीपी व टीएमसी से भी प्रतिनिधित्व होने की बात कही जा रही है।