ऑपरेशन छोड़ आपस में उलझे डॉक्टर, बच्ची ने पैदा होते ही दम तोड़ा

जोधपुर(30 अगस्त): राजस्थान के जोधपुर में एक हॉस्पिटल के ऑपरेशन थियेटर में 2 डॉक्टर आपस में उलझ गए। इस दौरान प्रेग्नेंट महिला की सिजेरियन डिलिवरी में देरी हुई। लिहाजा पैदा हुई नवजात बच्ची ने धड़कन धीमी होने की वजह से दम तोड़ दिया। 

- मामला उम्मेद हॉस्पिटल का है। इस घटना का वीडियो वायरल हुआ है। 

- घटना के मुताबिक, रातानाडा की रहने वाली अनीता मंगलवार सुबह डिलीवरी के लिए उम्मेद हॉस्पिटल आईं। उन्हें पहले लेबर रूम ले जाया गया, जहां डॉ. इंद्रा भाटी ने उन्हें चेक किया तो पेट में बच्चे की धड़कन धीमी पाई।

- इस पर अनीता को तुरंत सिजेरियन डिलिवरी के लिए ऑपरेशन थिएटर में भेजा गया। गर्भवती और बच्चे की जान बचाने के लिए तुरंत ऑपरेशन करना जरूरी था। ऑपरेशन थियेटर में एक टेबल पर गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. अशोक नैनीवाल एक दूसरी महिला का ऑपरेशन कर रहे थे।

- अनीता को दूसरी टेबल पर लाया गया। यहां एनेस्थिसिस्ट और ओटी इंचार्ज डॉ. एमएल टाक बच्चे की धड़कन जांचने के लिए दूसरे डॉक्टर से कह रहे थे। इसी दौरान डॉ. अशोक भड़क गए और डॉ. टाक पर जोर-जोर से चिल्लाने लगे।

- इस पर डॉ. टाक भी अनीता को छोड़कर डॉ. अशोक के सामने आ गए। दोनों के बीच तू-तू-मैं-मैं शुरू हो गई। वहां मौजूद नर्सिंग स्टाफ ने दोनों डॉक्टर्स को समझाने की बहुत कोशिश की, पर वे नहीं रुके। बाद में अनिता के सिजेरियन से हुई नवजात बच्ची ने कुछ ही देर में दम तोड़ दिया।