भारतीयों को बचाएगा 'ऑपरेशन संकटमोचन'

नई दिल्ली (13 जुलाई): केंद्रीय मंत्री जनरल वीके सिंह की अगुवाई में भारत सरकार ने दक्षिण सूडान में फंसे लोगों को निकालने के लिए ऑपरेशन संकट मोचन लॉन्च किया है। 

जानकारी के मुताबिक, गुरुवार को 2 C-17s विमान दक्षिण सूडान की राजधानी जूबा के लिए रवाना होगा। इस विमान में जनरल वीके सिंह वहां फंसे भारतीयों को लेकर आएंगे।

क्या है मामला

भारत दक्षिण सूडान से अपने नागरिकों को निकालने की योजना बना रहा है, जहां सरकार समर्थक और विरोधी गुटों के बीच संघर्ष के चलते हिंसक घटनाएं बढ़ गई हैं। भारतीय नागरिकों को युद्धग्रस्त देश में न जाने का परामर्श दिया गया है।

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 'हम दक्षिण सूडान की स्थिति पर करीब से निगाह रख रहे हैं। हमारे नागरिकों को आवश्यक परामर्श जारी कर दिए गए हैं। स्थिति अभी तक अस्थिर बनी हुई है।' इसमें कहा गया, 'हम निरंतर आकलन कर रहे हैं। हमारी पहली प्राथमिकता अपने नागरिकों की सुरक्षा है। हमारे नागरिकों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए प्रत्येक कदम उठाया जा रहा है।'

ऐसे करें भारत सरकार से संपर्क

ताजा परामर्श में विदेश मंत्रालय ने दक्षिण सूडान से निकलने के इच्छुक भारतीय नागरिकों से ईमल आईडी [email protected] पर अपना रजिस्ट्रेशन कराने को कहा है। दक्षिण सूडान में भारतीय नागरिकों की सहायता के बारे में परामर्श में कहा गया, 'यह महत्वपूर्ण है कि देश से निकाले जाने वाले भारतीय नागरिकों की सही संख्या पता लगे ताकि प्रबंध किए जा सकें। कृपया संक्षेप में जानकारी दें।' इसमें कहा गया कि इंटरनेट के अभाव में इन नंबरों पर ब्योरा भेजा जा सकता है... +211955589611, +211925502025, +211956942720, +211955318587।