यूपी में ऑपरेशन मजनूं: पुलिस ने जबरन स्कूली बच्चों को किया गिरफ्तार

अलीगढ़ (5 जनवरी): यूपी के अलीगढ़ में ऑपरेशन मजनूं के नाम नाबालिग स्कूली बच्चों को पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया। वर्दीवालों ने खुलेआम कानून को ताक पर रखा। जिसके कारम पार्क में घूम रहे और सड़कों पर चल रहे लड़के पुलिसिया कार्रवाई का शिकार बने।

कुछ लड़के सड़क किनारे एक ठेले पर गोल-गप्पे खा रहे थे तभी पुलिस वाले आए और गोल-गप्पे खाते लडके को पकड़कर ले जाने लगे। लड़के को कुछ समझ नहीं आया। उसने बात करने की कोशिश की लेकिन पुलिस वाला कुछ सुनने को मानों तैयार ही नहीं था। वहीं पुलिस की बात नहीं सुनने का नतीजा पुलिस मार खाकर भुगतना पड़ा।

ठंड के दिनों में पार्क में जाकर धूप सेंकना किसे अच्छा नहीं लगता, पर अलीगढ़ में ऐसा करना कई स्कूली बच्चो और कॉलेज स्टूडेंट्स को भारी पड़ गया। पुलिस टीम ने पार्क में घूम रहे स्कूली बच्चों, कॉलेज स्टूडेंट्स को भी हिरासत में ले लिया।

दरअसल अलीगढ़ पुलिस के आला अफसरों ने छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकना आदेश दिया है, जिसके बाद ऑपरेशन मजनूं चलाया गया। फिर क्या था आला अफसरों को कोई शिकायत ना हो इसलिए पुलिस ने रास्ते पर चलते स्कूली बच्चों, पार्क में बैठे लड़कों को हिरासत में लेकर अपनी ड्यूटी निभाई।  

पूरी कार्रवाई में करीब 40 बेगुनाहों को हिरासत में लिया, जिन्हे समझाइश के बाद छोड़ा गया। सवाल ये है कि ऑपरेशन मजनूं के नाम जो ज्यादती पुलिस ने नाबालिग बच्चों के साथ की है, उसकी भरपाई कैसे होगी और इसका हक पुलिस को किसने दिया।