यूपी: 414 साल पुरानी मस्जिद में हुआ ऑनलाइन निकाह

नई दिल्ली ( 9 अप्रैल ): उत्तर प्रदेश के शामली में एक ऐसा निकाह हुआ जिसके बारे में जानकर आप कहेंगे वहा। जी हां शमाली की 414 साल पुरानी मस्जिद में ऑनलाइन निकाह कराया गया। यूपी के बिजनौर से बारात आई थी लेकिन दूल्हा नहीं आया था।


सऊदी अरब में बैठे दूल्हा का वीडियो कॉलिंग से निकाह पढ़ाया गया। जिस मस्जिद में निकाह हुआ वह शाहजहां के जमाने में बनी 414 साल पुरानी शाही जामा मस्जिद है। आज के युग में नए ट्रेंड का निकाह होता देखने को मिला। दो वकीलों और 21 हजार रुपये के मेहर में निकाह पूरा हुआ।


शामली शहर के मोहल्ला आजाद चौक निवासी रहम इलाही कुरैशी बस चालक हैं। उनकी बेटी नाहिद अंजुम का रिश्ता बिजनौर के किरतपुर निवासी आबिद से हुआ था। आबिद सऊदी अरब के रियाद में एक शाह के यहां पर काम करता है। 


सोमवार को बरात आनी थी, लेकिन कागजातों में कमी के चलते उसे छुट्टी नहीं मिली और लड़का निकाह में नहीं आ पाया। बाद में धर्मगुरुओं से वीडियो कॉलिंग से निकाह की राय पर सहमति जताई गई। इसलिए बिना दूल्हे के ही बारात लेकर शामली पहुंचे। इस दौरान निकाह में लड़की पक्ष और लड़के पक्ष की ओर से 2-2 गवाह और वकीलों ने भी हिस्सा लिया और उन्हीं की मौजूदगी में निकाह कबूल किया गया।