बेंगलुरु: इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस में धमाका, एक वैज्ञानिक की मौत, 3 जख्मी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (5 दिसंबर): कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में स्थित प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थान इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस में हुए एक धमाके के चलते एक वैज्ञानिक की मौत हो गई है। आशंका जताई जा रही है कि बुधवार दोपहर करीब दो बजे एक हाइड्रोजन सिलिंडर में यह ब्लास्ट हुआ। बेंगलुरु पुलिस घटना की जांच-पड़ताल में जुटी है।  
सूत्रों के मुताबिक धमाका इतना तेज था कि 27 साल के एक रिसर्चर मनोज कुमार की मौत हो गई और तीन अन्य रिसर्चर गंभीर रूप से घायल हो गए हैं। यह धमाका आईआईएससी बेंगलुरु के ऐरोस्पेस इंजिनियरिंग डिपार्टमेंट के हाइपरसॉनिक ऐंड शॉक वेव रिसर्च लैब में हुआ। एक रिसर्चर की मौत मौके पर ही हो गई जबकि तीन घायलों को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनका इलाज चल रहा है।
सूत्रों के मुताबिक लैब अधिकारियों ने बताया, 'घटनास्थल से गैस या आग की कोई जानकारी नहीं मिली है लेकिन धमाका इतना तेज था कि एक रिसर्चर मनोज कुमार की मौत हो गई।' सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि चारों रिसर्चर सुपरवेव टेक्नॉलजीज नाम के एक स्टार्ट-अप से जुड़े हुए थे।  

सूत्रों के मुताबिक धमाका इतना तेज था कि इसने रिसर्चर मनोज को लैबरेटरी की दीवार की ओर उछाल दिया। वहीं तीन अन्य रिसर्चर अतुल्य कुमार, कार्तिक शेनॉय और नरेश कुमार को गंभीर चोटें आई हैं। बताया जा रहा है कि आईआईएससी के ऐरोस्पेस इंजिनियरिंग डिपार्टमेंट के प्रफेसर केपीजे रेड्डी और जी जगदीश के निर्देशन में यह स्टार्ट-अप प्रॉजेक्ट चल रहा था। दोनों प्रफेसर शॉक वेव टेक्नॉलजी में विशेषज्ञता रखते हैं। सदाशिवनगर पुलिस मामले की जांच कर रही है।