मंत्री के आदेश पर 8 घंटे में तैयार हो गई ट्रेन

नई दिल्ली(23 अप्रैल): भारतीय रेल को उसकी लेटलतीफी के लिए जाना जाता है। समय पर ना आना, फैसले में देरी ये सब तो रेल के लिए आम बात है। रेल में हर दिन कितने यात्री सफर करते हैं इसका अंदाजा आप रेल के जनरल बोगी के डिब्बों को देखकर बड़ी आसानी से लगा सकते हैं। और तो और जब शादियां और त्यौहार का मौसम हो तो रेल में सफर करने वाली यात्रियों की संख्या बढ़ जाती है। ऐसे मे ट्रेनें वही की वही। लेकिन रेलवे कभी-कभी ऐसा काम कर जाती है जिसकी तारीफ भी होती है। 

मुंबई में केंद्रीय रेल राज्य मंत्री के आदेश पर महज आठ घंटे के भीतर उत्‍तर प्रदेश के लिए एक स्‍पेशल ट्रेन का इंतजाम कर दिया गया। इस स्‍पेशल ट्रेन के लिए कई यार्ड्स में खाली पड़े उन डिब्‍बों को उठाया गया जिनकी हालत काफी खस्‍ता थी और शुक्रवार रात इस ट्रेन की रवानगी के आखिरी वक्‍त तक इन डिब्‍बों में रिपेयरिंग का काम चलता रहा।

दरअसल, शुक्रवार से पहले तक मुंबई से गोरखपुर के बीच इस स्‍पेशल ट्रेन का नामोनिशान तक नहीं था। हुआ यह कि रेलवे राज्‍य मंत्री मनोज सिन्‍हा को ऐसी कई शिकायतें मिली थीं जिनमें कहा गया था कि शादी का मौसम होने के बावजूद मुंबई से यूपी-बिहार के बीच कोई स्‍पेशल ट्रेन नहीं है। इसके अलावा बीजेपी के कई कार्यकर्ताओं ने भी कहा था कि ट्रेनों में सीट नहीं मिलने के कारण उत्‍तर भारत के कई पैसेंजर्स मुंबई के विभिन्‍न स्‍टेशनों के प्‍लेटफॉर्म पर सो रहे हैं।

इन्‍हीं शिकायतों के बाद सिन्‍हा ने शुक्रवार को सुबह 10.30 बजे के करीब रेलवे बोर्ड के अधिकारियों को फोन किया और यूपी-बिहार के लिए स्‍पेशल ट्रेन की मांग की। उन्‍होंने अधिकारियों से कहा कि यह ट्रेन शुक्रवार रात को ही रवाना होनी चाहिए। मंत्री का आदेश मिलते ही रेलवे के अधिकारी ट्रेन के इंतजाम में जुट गए। आनन-फानन में ट्रेन चलाने के लिए खाली डिब्‍बों की तलाश होने लगी और यह सुनिश्चित किए जाने की कोशिश होने लगी कि ट्रेन शुक्रवार रात 11.30 बजे मुंबई से रवाना हो जाए।

सिन्‍हा ने कहा, 'शिकायतें मिलने के तुरंत बाद मैंने रेलवे बोर्ड के अधिकारियों से कहा कि वे शुक्रवार को स्‍पेशल ट्रेन का इंतजाम करें। मैंने उनसे यह भी कहा कि वे वाराणसी के लिए शनिवार को एक रिजर्व्‍ड सर्विस का इंतजाम करें और पटना के लिए रविवार को एक जनरल सर्विस का।

सेंट्रल रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी ने कहा कि 84 स्पेशल ट्रेन गोरखपुर, वाराणसी और पटना के लिए चलेंगी।